शनिवार, 04 जुलाई, 2015 | 01:49 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    फिल्म देखने से पहले पढ़ें 'गुड्डू रंगीला' का रिव्यू फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत हेमा मालिनी के ड्राइवर को कुछ ही घंटों में मिली जमानत, बच्ची की मौत से हेमा दुखी झारखंड के चाईबासा में रिश्वत लेते दारोगा रंगे हाथ गिरफ्तार झारखंड: हजारीबाग में पिता ने अबोध बेटी को पटक कर मार डाला जमशेदपुर में स्कूल वाहन चालक हड़ताल पर, अभिभावक परेशान
डंडे बरसे, बिगड़े हालात
नई दिल्ली, प्रमुख संवाददाता First Published:23-12-12 11:54 PM

वसंत विहार गैंग रेप मामले में कई दिनों से जारी विरोध प्रदर्शन के दौरान रविवार को दिल्ली पुलिस का बर्बर चेहरा देखने को मिला। इंडिया गेट, राजपथ और जंतर मंतर पर प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी जिसमें 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

प्रदर्शनकारियों और पुलिस के  बीच हिंसक झड़प में दो पुलिसकर्मी भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराए गए दोनों पुलिसकर्मियों की हालत नाजुक बताई गई है। हालांकि पुलिस ने रविवार सुबह में ही दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी थी बावजूद इसके इंडिया गेट पर बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी जुट गए।

बाबा रामदेव और अरविंद केजरीवाल के समर्थन ने आग में घी का काम किया। बाबा रामदेव शाम न जैसे ही जंतरमंतर से इंडिया गेट की ओर बढ़ने की कोशिश की, पुलिस ने भीड़ पर लाठीचार्ज कर दिया जिसमें छह लोग घायल हो गए।

भीड़ को भगाने के लिए पुलिस ने कई बार आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछार की। शाम को इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति के पास पुलिस ने लोगों को घेरकर लाठियां बरसाना शुरू कर दिया। समाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव ने लड़कियों को पुलिस से बचाने की कोशिश की तो पुलिसकर्मी उनपर भी टूट पड़े।

पुलिसकर्मियों ने कोप का शिकार भाजपा नेता विजय गोयल और उनकी दो बेटियां भी बनीं। पुलिसिया लाठीचार्ज में कई मीडियाकर्मी भी घायल हो गए और कई टीवी चैनलों की कैमरे पुलिसवालों ने तोड़ डाले।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड