शनिवार, 30 मई, 2015 | 07:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
छात्रा की हालत सुधरी, वेंटिलेटर से हटाया गया
नई दिल्ली First Published:21-12-12 11:20 PM

सफदरजंग अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रही गैंगरेप की शिकार छात्रा को शुक्रवार वेंटिलेटर से हटा लिया गया है। उसकी हालत में मामूली सुधार आने पर डॉक्टरों ने यह कदम उठाया है। हालांकि अब भी लड़की की हालत चिंताजनक है।

डॉक्टरों का कहना है कि फिलहाल वह खुद सांस ले रही है, लेकिन शरीर में बढ़ता संक्रमण चिंताजनक है। खून में सफेद रक्त कणिकाएं भी कम हो रही हैं, जिससे उसकी रोगों से लड़ने की क्षमता कम हो रही है। छात्रा का इलाज कर रहे डॉ. सुनील जैन के अनुसार, ‘ऐसे हालातों के बावजूद कम उम्र में यह संभावना रहती है कि खून की सेल्स अपने आप बनने लगें।

यदि ऐसा होता है तो सेहत में जल्दी सुधार हो सकता है।’ हालांकि डॉक्टरों ने लिवर और किडनी को सुरक्षित बताया है। प्लेटलेट्स का स्तर बढ़कर 60,000 हो गया है। यह एक अच्छा संकेत है।
(व.सं.)

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingअंतिम 11 में जगह मिलने की नहीं थी उम्मीद : सरफराज
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने प्रदर्शन से प्रभावित करने वाले रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के सबसे युवा बल्लेबाज सरफराज खान का कहना है कि उन्हें क्रिस गेल, ए.बी. डीविलियर्स और विराट कोहली जैसे विध्वंसक बल्लेबाजों के बीच अंतिम 11 में जगह मिलने का यकीन नहीं था और नम्बर छह की बेहद महत्वपूर्ण स्थान पर मौका दिये जाने से उनका आत्मविश्वास सातवें आसमान पर है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड