शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 15:56 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बिहार: जदयू के चार बागी विधायकों की सदस्यता खत्मबागी विधायक हैं ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू, राहुल शर्मा, रविंद्र राय और नीरज कुमार बबलूविधानसभा अध्यक्ष का फैसला, चार महीने से हो रही थी सुनवाई
संसद से सड़क तक गुस्सा
नई दिल्ली, विशेष संवाददाता First Published:18-12-12 11:45 PM

राजधानी में चलती बस में गैंग रेप के बाद मंगलवार को गुस्से की आग संसद से लेकर सड़क तक दिखाई दी। दोनों सदनों में जहां सांसदों ने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए, वहीं सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे लोगों ने बलात्कारियों को फांसी की सजा देने की मांग की।

गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने संसद में कहा कि इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराई जाएगी। इस मामले की रोजाना सुनवाई होगी जिससे मामला लंबा न लटके और दोषियों को जल्द सजा मिल सके। गृहमंत्री शिंदे ने सदन को आश्वस्त किया कि जांच का काम समयबद्ध तरीके से होगा। संसद के दोनों सदनों में सदस्यों ने राष्ट्रीय राजधानी की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाया। संसद में खासतौर पर महिला सांसदों का रौद्र रूप देखने को मिला। 

दिल्ली के संसद मार्ग पर महिला संगठनों ने जोरदार प्रदर्शन किया तो दक्षिण दिल्ली में छात्र संगठनों ने प्रदर्शन किया और बलात्कारियों को फांसी देने की मांग की। वहीं दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों की सुनवाई के लिए पांच नए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन जल्द किए जाने के लिए हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश को पत्र लिखा है। उधर, 25 महिला वकीलों के समूह ने दिल्ली हाईकोर्ट से पूरे मामले की अदालत की निगरानी में जांच की मांग की है। हाईकोर्ट ने महिला वकीलों को शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

उधर, दिल्ली पुलिस ने गैंगरेप के मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले के खुलासा का दावा किया है, जबकि दो आरोपी अभी भी फरार हैं। दिल्ली के पुलिस आयुक्त ने भी सरकार से कानून में संशोधन कर बलात्कार के लिए फांसी की सजा का प्रावधान करने का अनुरोध किया है।

बलात्कार की शिकार महिला एक जिंदा लाश बन जाती है। क्या बलात्कारियों को फांसी की सजा नहीं होनी चाहिए।
-सुषमा स्वराज

महिलाओं के खिलाफ अपराध में शामिल लोगों को जमानत नहीं दी जानी चाहिए। ऐसे में यह कड़े प्रतिरोधक का काम करेगा।
- शीला दीक्षित

हमने अपराध कानून संशोधन विधेयक लोकसभा में पेश किया है। इसमें बलात्कार जैसे मामलों में सजा बढ़ाने का प्रावधान है।
-सुशील कुमार शिंदे

सामूहिक दुष्कर्म जैसी घटनाओं में दोषियों को ऐसी सजा दी जानी चाहिए कि दोबारा ऐसा करने वाले कांप जाएं।
- मायावती

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ