शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 11:03 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अमेरिकी स्कूल में गोलीबारी में दो की मौत, चार घायल पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन हुदहुद से आई टी क्षेत्र को भारी क्षति हुई है :रेड्डी  मिस्र में आतंकी हमले में 31 सैनिकों की मौत गूगल के अधिकारी ने हवा में गोताखोरी का बनाया विश्व रिकॉर्ड  चीन सीमा पर 54 चौकियां बनाएगा भारत, 175 करोड़ के पैकेज की घोषणा  बर्धवान के बम थे बांग्लादेश के लिए: एनआईए नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें
युद्ध स्मारक पर एंटनी और शीला में टकराव
नई दिल्ली, भाषा First Published:16-12-12 11:32 PM

इंडिया गेट पर युद्ध स्मारक बनाने के प्रस्ताव को लेकर रक्षामंत्री ए.के. एंटनी और दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित आमने-सामने आ गए हैं। पाकिस्तान के साथ 1971 के युद्ध की 41वीं वर्षगांठ पर रविवार को एंटनी ने अमर जवान ज्योति पर पुष्पचक्र अर्पित करने के बाद कहा कि युद्ध स्मारक के लिए इंडिया गेट सही स्थान है। लंबे प्रयासों के बाद मंत्रियों के समूह और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के बीच इसको लेकर सहमति बनी है।

दरअसल, तीनों सेनाएं शहीद हुए जवानों की याद में राजधानी में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक बनाने की मांग करती आई हैं। प्रधानमंत्री ने एंटनी की अध्यक्षता में मंत्रियों का समूह गठित कर उपयुक्त स्थल तलाशने को कहा था। अगस्त में इस समूह ने इंडिया गेट परिसर में स्थित प्रिंसेस पार्क का चयन किया। इस पर शहरी विकास मंत्रालय ने सभी पक्षों से प्रतिक्रिया मांगी, जिस पर मुख्यमंत्री ने पत्र लिखकर तर्क दिया कि यहां बड़ी संख्या में लोग घूमने आते हैं। स्मारक बनने से सुरक्षा कारणों से लोगों की आवाजाही और माहौल प्रभावित होगा।
 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ