शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 18:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    मथुरा में भाजपा युवा मोर्चा का पुलिस पर पथराव, दर्जनों जख्मी मुख्यमंत्री कार्यालय में बदलाव करना चाहते हैं फड़नवीस  चीन ने पूरा किया चांद से वापसी का पहला मिशन  आज चार राज्य मना रहे हैं स्थापना दिवस  जम्मू-कश्मीर में बदले जा सकते हैं मतदान केंद्र 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' का वीडियो यूट्यूब पर हिट दिग्विजय सिंह की सलाह, कांग्रेस की कमान अपने हाथ में लें राहुल गांधी 'दिल्ली को फिर केंद्र शासित बनाने की फिराक में भाजपा' जनता सब देख रही है, बीजेपी हल्के में न लेः उद्धव ठाकरे वर्जिन का अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट की मौत
युद्ध स्मारक पर एंटनी और शीला में टकराव
नई दिल्ली, भाषा First Published:16-12-12 11:32 PM

इंडिया गेट पर युद्ध स्मारक बनाने के प्रस्ताव को लेकर रक्षामंत्री ए.के. एंटनी और दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित आमने-सामने आ गए हैं। पाकिस्तान के साथ 1971 के युद्ध की 41वीं वर्षगांठ पर रविवार को एंटनी ने अमर जवान ज्योति पर पुष्पचक्र अर्पित करने के बाद कहा कि युद्ध स्मारक के लिए इंडिया गेट सही स्थान है। लंबे प्रयासों के बाद मंत्रियों के समूह और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के बीच इसको लेकर सहमति बनी है।

दरअसल, तीनों सेनाएं शहीद हुए जवानों की याद में राजधानी में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक बनाने की मांग करती आई हैं। प्रधानमंत्री ने एंटनी की अध्यक्षता में मंत्रियों का समूह गठित कर उपयुक्त स्थल तलाशने को कहा था। अगस्त में इस समूह ने इंडिया गेट परिसर में स्थित प्रिंसेस पार्क का चयन किया। इस पर शहरी विकास मंत्रालय ने सभी पक्षों से प्रतिक्रिया मांगी, जिस पर मुख्यमंत्री ने पत्र लिखकर तर्क दिया कि यहां बड़ी संख्या में लोग घूमने आते हैं। स्मारक बनने से सुरक्षा कारणों से लोगों की आवाजाही और माहौल प्रभावित होगा।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ