शनिवार, 30 मई, 2015 | 07:50 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
15 और कंपनियों ने भी की लॉबिंग
वाशिंगटन First Published:16-12-12 11:30 PM

वॉलमार्ट ही नहीं बल्कि 15 बड़ी अमेरिकी कंपनियों ने 2012 में भारत में अपने व्यापारिक हितों के लिए लॉबिंग पर करोड़ों डॉलर खर्च किए। संबंधित संसदीय रिकॉर्ड के अनुसार, लॉबिंग करने वालों में दवा कंपनी फाइजर, कंप्यूटर कंपनी डेल व एचपी, दूरसंचार कंपनी क्वालकॉम व एल्काटेल लुसेंट, वित्तीय सेवा प्रदाता मोर्गन स्टेनली तथा प्रूडेंशियल फाइनेंशियल और एलायंस ऑफ ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चर्स तथा एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ऑफ अमेरिका शामिल हैं।

इसी साल लॉबिंग करने वालों में उपभोक्ता कंपनी कारगिल व कोलगेट, लॉबी एक्जीक्यूटिव्ज इंटरनेशनल, बिजनेस राउंडटेबल, बिजनेस सॉफ्टवेयर एलायंस व फाइनेंशियल सर्विसेज फोरम के नाम हैं।  

 

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingअंतिम 11 में जगह मिलने की नहीं थी उम्मीद : सरफराज
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने प्रदर्शन से प्रभावित करने वाले रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के सबसे युवा बल्लेबाज सरफराज खान का कहना है कि उन्हें क्रिस गेल, ए.बी. डीविलियर्स और विराट कोहली जैसे विध्वंसक बल्लेबाजों के बीच अंतिम 11 में जगह मिलने का यकीन नहीं था और नम्बर छह की बेहद महत्वपूर्ण स्थान पर मौका दिये जाने से उनका आत्मविश्वास सातवें आसमान पर है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड