शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 03:47 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
मलिक को खरी-खरी
नई दिल्ली, शिशिर गुप्ता/राजेश आहूजा First Published:15-12-2012 11:37:09 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

भारत दौरे पर आए पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक के विवादित बयानों और आतंकवाद के मुद्दे पर उनके ढुलमुल रवैये पर भारत ने सख्त रुख अपनाया है। द्विपक्षीय वार्ता में भारतीय पक्ष ने स्पष्ट कर दिया कि लश्कर के सरगना हाफिज सईद समेत मुंबई हमले के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उसके बाद न तो दोनों पक्ष एकसाथ मीडिया के सामने आए और न ही कोई संयुक्त बयान जारी किया गया।

सूत्रों के मुताबिक, मलिक और उनके सहयोगियों से शुक्रवार रात को भारतीय पक्ष की पहली मुलाकात हुई। शनिवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन ने रहमान से कहा कि मुंबई हमलों के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के बिना विश्वास बहाली नहीं हो पाएगी। इसके बाद मलिक ने कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन बार के एक कार्यक्रम में कहा कि हाफिज सईद के बारे में भारत ने उसे सिर्फ सूचनाएं दी हैं, सबूत नहीं। अगर पुख्ता सबूत दें तो वह पाक लौटते ही हाफिज सईद की तुरंत गिरफ्तारी का आदेश देंगे। सूत्र बताते हैं कि मलिक ने गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के साथ बैठक में उन्हें अगले दौर की वार्ता के लिए पाक आने का न्योता दिया है। शिंदे ने इसे स्वीकार कर लिया है परतारीख पर कोई आश्वासन नहीं दिया है।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingबारिश ने धोया पहले दिन का खेल, भारत 50/2
भारत और श्रीलंका के बीच तीसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन शुक्रवार को बारिश के कारण दो सत्र से अधिक का खेल नहीं हो सका जबकि भारत ने पहली पारी में दो विकेट पर 50 रन बनाए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।