रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 09:09 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
फेसबुक के फंदे में फंसे सौ ट्रैफिक पुलिसवाले
नई दिल्ली सुभेन्दु रे First Published:14-12-12 11:29 PM

एक ओर विकसित देशों में सोशल मीडिया सड़क सुरक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, वहीं हमारे देश में यह सड़क सुरक्षा की कलई खोल रहा है। इस मामले में तो दिल्ली पुलिस ने रिकॉर्ड बनाया है। बीते ढाई वर्षो के दौरान ‘फेसबुक’ की मदद से ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले दिल्ली पुलिस के 1100 जवानों का चालान काटा गया। इनमें 100 ट्रैफिक पुलिसवाले भी थे।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस 2010 में फेसबुक के जरिये आम लोगों से इस वादे के साथ जुड़ी कि उनकी शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। संयुक्त उपायुक्त (ट्रैफिक) सत्येंद्र गर्ग ने बताया कि ढाई साल पहले शुरू हुई इस मुहिम से नवंबर तक ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर 100 से अधिक जवानों को दंडित किया गया। वहीं, कई का तबादला किया गया। कार्रवाई की शुरुआत एक एएसआई और एक कांस्टेबल के तबादले से हुई। इन दोनों ने बाइक चलाते समय हेलमेट नहीं पहना था।
 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ