मंगलवार, 07 जुलाई, 2015 | 01:38 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    चीन ने विज्ञापन में दिखाई भारतीय शहरों में गंदगी  VIDEO: आकाशवाणी दिल्ली परिसर में सिपाही पर गोलीबारी कुंआरी मां बन सकती है बच्चे की अभिभावक  ऑनलाइन स्टार बनी रांची की नेत्रहीन बालिका टुंपा स्पाइसजेट ऑफर: अब सिर्फ 1899 रुपये में लें हवाई यात्रा का मजा  पीएम नरेंद्र मोदी पहुंचे उज्बेकिस्तान, ब्रिक्स बैठक में लेंगे हिस्सा झारखंड: खूंटी के अड़की में युवक की हत्या पलामू के चैनपुर में लुटेरों ने युवक को गोली मारी, गंभीर रांची ITI के लापता छात्र का शव रामगढ़ से बरामद व्यापमं घोटाला: ट्रेनी SI की मिली लाश, कांग्रेस ने की सीएम शिवराज को बर्खास्त करने की मांग
डीयू में दोबारा जांची जा सकेंगी कॉपियां
नई दिल्ली, अनुराग मिश्र First Published:10-12-12 11:21 PM

दिल्ली विश्वविद्यालय पुनर्मूल्यांकन प्रक्रिया को फिर से शुरू करने जा रहा है। हाल ही में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा कॉपी दोबारा जांचने और नंबरों की दोबारा गणना के लिए आवेदन देने की प्रक्रिया को खत्म करने की बात कही गई थी। शिक्षकों और छात्रों ने इसकी कड़ी आलोचना की थी।

सूत्रों के मुताबिक ऐसी रिपोर्ट मिली थीं कि शिक्षक उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन सही तरीके से नहीं कर रहे हैं। पुनर्मूल्यांकन प्रक्रिया नहीं होने से छात्रों का काफी नुकसान होता, इसलिए इसे खत्म नहीं करने का फैसला किया गया।

विश्वविद्यालय के उप कुलपति ने कई मौकों पर इसके खिलाफ बयान दिए थे। इसी साल से उत्तर पुस्तिकाओं को जांचने का नया तरीका भी लागू किया गया है। इस पर शिक्षकों की अलग-अलग प्रतिक्रिया आई थीं। कुछ शिक्षकों ने कॉपियां जांचने की नई प्रक्रिया को पुरानी से बेहतर बताया तो कुछ के मुताबिक यह असमंजस पैदा करने वाली है।

उन्होंने इसके विरोध में काले फीते बांध कॉपियां जांची थीं। दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) और दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (डूसू) ने भी परीक्षा प्रक्रिया की नई नीतियों की आलोचना करते हुए इसके विरोध में प्रदर्शन किए थे। डीयू के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि पुनर्मूल्यांकन को खत्म करने का कोई आधिकारिक आदेश जारी नहीं हुआ था।

 

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingमिताली ने वनडे मैचों में पूरे किए 5000 रन
भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने सोमवार को एकदिवसीय क्रिकेट में 5000 रन पूरे कर लिए। इस मुकाम पर पहुंचने वाली वह भारत की पहली और विश्व की दूसरी बल्लेबाज हैं।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड