शुक्रवार, 28 नवम्बर, 2014 | 16:26 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
डीयू में दोबारा जांची जा सकेंगी कॉपियां
नई दिल्ली, अनुराग मिश्र First Published:10-12-12 11:21 PM

दिल्ली विश्वविद्यालय पुनर्मूल्यांकन प्रक्रिया को फिर से शुरू करने जा रहा है। हाल ही में विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा कॉपी दोबारा जांचने और नंबरों की दोबारा गणना के लिए आवेदन देने की प्रक्रिया को खत्म करने की बात कही गई थी। शिक्षकों और छात्रों ने इसकी कड़ी आलोचना की थी।

सूत्रों के मुताबिक ऐसी रिपोर्ट मिली थीं कि शिक्षक उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन सही तरीके से नहीं कर रहे हैं। पुनर्मूल्यांकन प्रक्रिया नहीं होने से छात्रों का काफी नुकसान होता, इसलिए इसे खत्म नहीं करने का फैसला किया गया।

विश्वविद्यालय के उप कुलपति ने कई मौकों पर इसके खिलाफ बयान दिए थे। इसी साल से उत्तर पुस्तिकाओं को जांचने का नया तरीका भी लागू किया गया है। इस पर शिक्षकों की अलग-अलग प्रतिक्रिया आई थीं। कुछ शिक्षकों ने कॉपियां जांचने की नई प्रक्रिया को पुरानी से बेहतर बताया तो कुछ के मुताबिक यह असमंजस पैदा करने वाली है।

उन्होंने इसके विरोध में काले फीते बांध कॉपियां जांची थीं। दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) और दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ (डूसू) ने भी परीक्षा प्रक्रिया की नई नीतियों की आलोचना करते हुए इसके विरोध में प्रदर्शन किए थे। डीयू के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि पुनर्मूल्यांकन को खत्म करने का कोई आधिकारिक आदेश जारी नहीं हुआ था।

 

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ