बुधवार, 26 नवम्बर, 2014 | 06:55 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    झारखंड में पहले चरण में लगभग 62 फीसदी मतदान  जम्मू-कश्मीर में आतंक को वोटरों का मुंहतोड़ जवाब, रिकार्ड 70 फीसदी मतदान  राज्यसभा चुनाव: बीरेंद्र सिंह, सुरेश प्रभु ने पर्चा भरा डीडीए हाउसिंग योजना का ड्रॉ जारी, घर का सपना साकार अस्थिर सरकारों ने किया झारखंड का बेड़ा गर्क: मोदी नेपाल में आज से शुरू होगा दक्षेस शिखर सम्मेलन  दक्षिण एशिया में शांति, विकास के लिए सहयोग करेगा भारत काले धन पर तृणमूल का संसद परिसर में धरना प्रदर्शन 'कोयला घोटाले में मनमोहन से क्यों नहीं हुई पूछताछ' दो राज्यों में प्रथम चरण के चुनाव की पल-पल की खबर
दिल्लीवाले वक्त पर पाएंगे 20 और सेवाएं
नई दिल्ली, पंकज रोहिला First Published:09-12-12 11:40 PM

परिणय सूत्र में बंधने वाले जोड़ों को अब शादी के पंजीकरण के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। हिन्दू विवाह अधिनियम के तहत सरकारी एजेंसियों को सात दिन के भीतर पंजीकरण करना होगा। देरी होने पर संबंधित अधिकारी पर प्रतिदिन के हिसाब से दस रुपये का जुर्माना लगेगा।

दरअसल, दिल्ली सरकार ने विवाह के पंजीकरण सहित 20 अन्य जन सेवाओं को नागरिक सेवा कानून के प्रावधानों में शामिल कर दिया है। अब इस कानून के तहत आने वाली  सेवाओं का आंकड़ा सौ को पार कर गया है। दिल्ली सरकार के प्रधान सचिव (सूचना प्रौद्योगिकी) राजेंद्र कुमार ने बताया कि लोगों को बेहतर सेवा उपलब्ध कराने के लिए यह कानून लागू किया गया है।

यदि किसी व्यक्ति के काम में देरी होती है तो वह संबंधित अधिकारी के पास नागरिक सेवा कानून के तहत जुर्माना वसूलने के लिए आवेदन कर सकता है। इस प्रक्रिया के संबंध में लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है।

यहां मिलेगी सहूलियत
1. एक्ट में आने वाली कर्मियों की रिक्तियों की सूचना: एक दिन
2. एक्ट के दायरे से बाहर उद्योगों की रिक्तियों की सूचना-एक दिन
3. रोजगार पंजीकरण- एक दिन
4. स्पांसरशिप नौकरियों की सूचना- 15 दिन
5. स्पांसरशिप दैनिक नौकरी सूचना- एक दिन
6. रोजगार कार्यालय में शिक्षण योग्यता का अपग्रेडेशन- एक दिन
7. बाढ़ एवं सिंचाई विभाग में ठेकेदार का पंजीकरण- 30 दिन
8. बाढ़ एवं सिंचाई विभाग में ठेकेदार के पंजीकरण का नवीनीकरण-30 दिन
9. बाढ-सिंचाई में अन्य एजेंसियों के  दस्तावेज की जांच-15 दिन
10. श्रम विभाग द्वारा मरने के बाद सेवा व अन्य भुगतान- 60 दिन
11. निर्माण कर्मचारियों का पंजीकरण- 60 दिन
12. दाखिल खारिज- 45 दिन
13. लाल डोरा प्रमाण पत्र- 21 दिन
14. परिवहन विभाग से डुप्लीकेट रूट परमिट- 15 दिन
15. परमिट नवीनीकरण-15 दिन
16. परिवहन विभाग से नेशनल रूट परमिट का नवीनीकरण-15 दिन
17. श्रमविभाग से सुविधाएं-60 दिन
18. राजस्व विभाग से आरओआर के तहत मिलने वाला बीमा- 21 दिन
19. राजस्व विभाग द्वारा बीमा के लिए सदस्य प्रमाण पत्र-21 दिन
20. शादी का पंजीकरण- 7 दिन

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ