रविवार, 01 फरवरी, 2015 | 17:11 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
दिल्ली को आगे बढ़ाना है तो भाजपा को पूर्ण बहुमत दीजिए : मोदीजहां झुग्गी होगी वहीं पक्का मकान बनाएंगे : मोदीशहर में ट्रफिक की समस्या का समाधान किरण बेदी करा देंगी : मोदीगरीबों को गरीब रखकर राजनीति हुई : मोदीचुनाव भी विकास के मु्द्दे पर लड़ता हूं और सरकार भी विकास के मुद्दे पर चलाता हूं : मोदीमेरे पास किताबी ज्ञान नहीं, लोगों की शक्ति की पहचान है : मोदीटीवी में जगह से सरकार नहीं चलती : मोदीयुवा देश का लाभ लेना मुझे आता है : मोदीअगर नसीबवाले से आपका पैसा बचता है तो बदनसीब की क्या जरूरत : मोदीमेरे नसीब से तेल-पेट्रोल सस्ता हुआ तो क्या बुरा है : मोदीआपने जो प्यार दिया अब मुझे वह ब्याज समेत लौटाना है : मोदीआंदोलन की आदत रखने वालों को सिर्फ टीवी में जगह चाहिए : मोदीदिल्ली को जिम्मेवार सरकार चाहिए : मोदीभागने से काम नहीं चलता, सरकार चलाना बड़ी जिम्मेदारी : मोदीरोज विरोधी सुबह उठकर सोचते हैं कि आज कौन सा झूठ फैलाया जाए : मोदीकांग्रेस-आप में झूठ बोलने की होड़ : मोदीकांग्रस-आप ने कुर्सी के लिए सौदा किया : मोदीहम समस्या दूर करने की सोचते हैं : मोदीदिल्ली से पानी का वादा पूरा किया : मोदीदिल्ली के द्वारका में पीएम मोदी ने रैली के दौरान कहा, मैं असली दिल्लीवाला हो गया हूंदिल्ली के द्वारका में पीएम मोदी की रैलीबीजेपी नफरत फैला रही है : सोनियाबीजेपी ने झूठे वादे किए, किसानों के सपने का क्या हुआ, काला धन वापस कहां आया : सोनियाहमने झुग्गीवालों को घर दिये : सोनियादिखावे की राजनीति करने वालों से सतर्क रहने की जरूरत : सोनियाबिहार के फारबिरगंज में काले झंडों के साथ अल्पसंख्यक समुदाय के हजारों लोगों ने किया प्रदर्शन, फांस की शार्ली एब्दो पत्रिका द्वारा पैगंबर मोहम्मद साहब का कार्टून छापने के विरोध में किया प्रदर्शन।
बिना ऑक्सीजन गईं चार जानें
नई दिल्ली, वरिष्ठ संवाददाता First Published:04-12-12 11:37 PM

कश्मीरी गेट स्थित सुश्रुत ट्रॉमा सेंटर में मंगलवार को चार मरीज अव्यवस्था की भेंट चढ़ गए। सभी आईसीयू में ऑक्सीजन पर थे और अचानक सिलेंडर खाली हो गया। आलम यह है कि अस्पताल प्रबंधन लापरवाही का ठीकरा ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराने वाली कंपनी के सिर फोड़कर पल्ला झाड़ रहा है। अस्पताल के अतिरिक्त चिकित्सा अधीक्षक की शिकायत पर देर रात को मामला दर्ज किया गया। साथ ही, जांच समिति भी गठित की गई है।

मृतकों में 36 वर्षीय रेहाना, 35 वर्षीय राजकुमारी, 23 वर्षीय जावेद की पहचान हो गई है, जबकि एक की शिनाख्त नहीं हुई है। रेहाना, जावेद और अज्ञात शख्स को सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने पर, जबकि राजकुमारी को जहरीला पदार्थ खाने के बाद वेंटिलेटर पर रखा गया था। इनके साथ विक्रम भी वेंटिलेटर पर था। बागपत में सड़क हादसे की शिकार रेहाना के सिर का ऑपरेशन हुआ था और वह रविवार को भर्ती हुई थी। स्वरूप नगर की राजकुमारी को 30 नवंबर, जबकि जावेद (कश्मीरी गेट)व अज्ञात (सदर बाजार) को 3 दिसंबर को भर्ती किया गया था। मंगलवार सुबह 6.40 बजे आईसीयू की आपातकालीन घंटी बजी तो डॉक्टर और नर्स भागकर वहां पहुंचे तो देखा पांचों मरीजों को सांस लेने में दिक्कत हो रही है। ऑक्सीजन सिलेंडर खाली देख डॉक्टरों ने डय़ूटी पर तैनात अमित को बुलाया। लेकिन जब तक उसने सिलेंडर बदला, चारों की मौत हो चुकी थी। जैसे-तैसे विक्रम को बचाया गया, लेकिन उसकी भी हालत नाजुक बनी हुई है।

 

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड