शनिवार, 20 दिसम्बर, 2014 | 08:29 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
जम्मू कश्मीर में 20 सीटों के लिए मतदान शुरूझारखंड: दुमका के बूथ नम्बर 114 में सुबह से मतदाताओं में उत्साह नजर आ रहा हैझारखंड: सारठ के पालाजोरी ब्लॉक में बूथ नंबर 172 पर इवीएम खराब, 15 मिनट देर से शुरू हुआ मतदानझारखंड: दुमका के 114 नंबर बूथ पर सुबह से लगी महिला वोटरों की लंबी कतारझारखंड: जामताड़ा के बूथ नंबर 203 पर सुबह 7 बजे से ही वोटरों की लंबी कतार लगीझारखंड : दुमका के बूथ नम्बर 207 में पहला वोट पड़ाझारखंड में 16 विधानसभा सीटो के लिए मतदान शुरू
हैक कर लिया एटीएम
नई दिल्ली, अंकुर शर्मा First Published:03-12-12 11:22 PM

एटीमएम से सेंधमारी करने वालों ने इस बार किसी ग्राहक को नहीं बल्कि बैंक को ही शिकार बनाया है। इन हैकर्स ने दिल्ली में एक नामी बैंक के एटीएम से रुपये तो निकाल लिए लेकिन एटीएम सिस्टम में छेड़छाड़ कर ट्रांजेक्शन की जानकारी खाते तक नहीं पहुंचने दी।

दिल्ली पुलिस ने बैंक की शिकायत पर मामला दर्ज किया है। हैकरों ने नकदी निकालने के लिए दूसरे बैंक के कार्ड का इस्तेमाल किया। रोहिणी, पश्चिमी विहार, शालीमार बाग आदि जगहों पर लगे एटीएम से 37 बार में 3.64 लाख रुपये की चपत लगाई गई। पुलिस को लग रहा है कि आरोपियों ने एटीएम की किसी खामी को पकड़कर गड़बड़ी की। आर्थिक अपराध शाखा के ज्वाइंट सीपी संदीप गोयल ने बताया कि पुलिस के पास मई में शिकायत आई थी लेकिन छह महीने जानकारी जुटाने में लग गए।

ऐसे की गड़बड़ी: अप्रैल से मई महीने में फेडरल बैंक के अलग-अलग एटीएम से आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक के ग्राहकों के खाते से रुपये निकाले गए। एटीएम से तो रुपये निकल गए लेकिन जिन बैंकों में खाते थे वहां ट्रांजेक्शन की सूचना नहीं पहुंची।

बैंकों ने किया पैसा देने से इनकार: इस मामले में फेडरल बैंक को घाटा हुआ है। आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी ने फेडरल बैंक को रुपये अदा करने से मना कर दिया है।

 

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड