मंगलवार, 22 जुलाई, 2014 | 16:50 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट से सुब्रत राय को नहीं मिली राहतनिवेशकों का पैसा नहीं लौटाने का मामला4 मार्च से जेल में बंद हैं सुब्रत राय
 
फेसबुक कमेंट पर गिरफ्तारी कठिन
नई दिल्ली, विशेष संवाददाता
First Published:29-11-12 11:36 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के दुरुपयोग को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने नए दिशा-निर्देश तैयार किए हैं। इनमें थाना प्रभारियों से एक्ट की धारा 66 ए के तहत मुकदमा दर्ज करने की शक्ति वापस ले ली गई है।

नए प्रावधानों के तहत अब आईटी एक्ट की धारा 66ए में मुकदमा दर्ज करने के लिए कम से कम पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) स्तर के अधिकारी की मंजूरी लेनी होगी। वहीं महानगरों के लिए ये नियम और कड़े बनाए गए हैं। वहां किसी पर मुकदमा दर्ज करने से पहले पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) रैंक के अफसर की अनुमति लेनी पड़ेगी।
हाल में मुंबई में दो लड़कियों के खिलाफ फेसबुक अपने विचार देने के बाद मुकदमा दर्ज होने के बाद केंद्र सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। इसलिए अगले कुछ दिनों में सूचना प्रौद्यौगिकी एवं संचार मंत्रलय राज्यों को धारा 66ए के इस्तेमाल के बाबत दिशा-निर्देश जारी करेगा।

आईटी मंत्री कपिल सिब्बल ने उच्च स्तरीय बैठक में मोटे तौर पर 66 ए के तहत मुकदमे दर्ज करने के नियमों को कड़ा करने का फैसला लिया। बैठक में तय किया गया कि इसके लिए एक गाइडलाइन जारी की जाएगी जिसे सभी राज्य सरकारों को जल्द भेजा जाएगा। हालांकि कानून विशेषज्ञों का एक वर्ग आईटी एक्ट में संशोधन की मांग कर रहा है। लेकिन मंत्रलय का मानना है कि संसद में संशोधन प्रस्ताव लाने में समय लग जाएगा इसलिए दिशा-निर्देश जारी कर इस समस्या का समाधान निकाला जा रहा है।

 

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°