शुक्रवार, 28 नवम्बर, 2014 | 15:06 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
अग्नि परीक्षा देने को तैयार सरकार
नई दिल्ली, विशेष संवाददाता First Published:27-11-12 11:13 PM

खुदरा क्षेत्र में एफडीआई मुद्दे पर द्रमुक के समर्थन के बाद सरकार अग्निपरीक्षा के लिए तैयार है। घटक दलों की बैठक के बाद सरकार ने मंगलवार को बहुमत का दावा किया। लेकिन संसद में किस नियम के तहत एफडीआई पर चर्चा हो, इसका फैसला लोकसभा अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति पर छोड़ दिया है।

एफडीआई पर मतविभाजन के नियमों के तहत चर्चा की मांग पर तीन दिन से दोनों सदन ठप है। अभी तक एफडीआई का विरोध कर रहे द्रमुक ने साम्प्रदायिक ताकतों को सत्ता से बाहर रखने के लिए साथ देने की घोषणा कर सरकार को बड़ी राहत दी है।

इससे पहले, सोमवार को सर्वदलीय बैठक में तृणमूल कांग्रेस ने यह कहकर सरकार को राहत दी थी कि पीठासीन अधिकारी जिस नियम के तहत चाहें, एफडीआई पर चर्चा करा सकते हैं। इस बीच, प्रधानमंत्री ने कहा कि गठबंधन एकजुट है और सरकार के पास प्र्याप्त संख्या बल है। करीब डेढ़ घंटे चली यूपीए की बैठक के बाद संसदीय कार्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि सरकार किसी भी नियम के तहत एफडीआई पर चर्चा को तैयार है।

हालांकि, यह साफ नहीं है कि गुरुवार को संसद चलेगी। वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के मुताबिक, इस मुद्दे को सुलझाने के लिए दो दिन कई घंटे बैठक चली, लेकिन अगले दो दिन भी कई घंटे बैठक की जरूरत है। कमलनाथ बुधवार को भाजपा नेता सुषमा स्वराज और अरुण जेटली से भेंट कर रास्ता निकालने की कोशिश करेंगे।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ