रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 00:28 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
टी-3 पर अफसर करा रहे कबूतरबाजी
नई दिल्ली, अंकुर शर्मा First Published:07-12-12 01:39 PM
Image Loading

दिल्ली एयरपोर्ट (टी-3) पर एक बड़े कबूतरबाजी रैकेट का खुलासा हुआ है। इमिग्रेशन और एयर इंडिया के अधिकारी की मिलीभगत से गोरखधंधा चल रहा था। इस मामले में कई संदिग्ध लोगों से पूछताछ की जा रही है।

मामले का खुलासा तब हुआ जब दुबई जा रहे आंध्र प्रदेश के आठ यात्री बताए गए काउंटर की जगह दूसरे काउंटर पर चले गए और पकड़े गए। काउंटर पर खड़े अधिकारी ने उनके पासपोर्ट पर एक टूरिस्ट वीजा और एक नौकरी वीजा देखा तो उसे संदेह हुआ और कड़ी पूछताछ ने मामले की कडियां खोल दीं। इस गिरोह में एयरपोर्ट पर तैनात कई अधिकारी शामिल हैं। हर किसी का रोल तय था। अंदर एयरलाइंस का अधिकारी यात्रियों को गलत दस्तावेजों के बावजूद उन्हें बोर्डिंग पास दिलवाता और इमिग्रेशन अधिकारी इमिग्रेशन काउंटर से उसे क्लीयर करवा देता। यात्रियों को बता दिया जाता था कि बोर्डिंग पास कहां और किससे लेने हैं। ये यात्री पहले दो चरण तो पार कर गए लेकिन आखिरी चरण में गलतफहमी का शिकार होकर फंस गए। इमिग्रेशन के आला अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। संदेह के घेरे में दिल्ली पुलिस से डेपुटेशन पर आया एक इमिग्रेशन अधिकारी है।

07:10 बजे शाम बुधवार को
आठ लोग टी-3 से अंदर वैध पासपोर्ट और टिकट के आधार पर दाखिल हुए और चेक-इन काउंटर पर खडे़ हो गए।

07:45 बजे शाम
एक इमिग्रेशन और एयर इंडिया का अधिकारी आया और चेक-इन की लाइन से दूर इन्हें बोर्डिंग पास बांटने लगा।

08:10 बजे रात
आठों इमिग्रेशन के काउंटर पर पहुंचते हैं, लेकिन वहां खड़े अधिकारी को शक होता है। पूछताछ में सामने आया फर्जीवाड़ा।
 
 
 
टिप्पणियाँ