मंगलवार, 25 नवम्बर, 2014 | 05:57 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    श्रीनिवासन आईपीएल टीम मालिक और बीसीसीआई अध्यक्ष एकसाथ कैसे: सुप्रीम कोर्ट  झारखंड और जम्मू-कश्मीर में पहले चरण की वोटिंग आज पार्टियों ने वोटरों को लुभाने के लिए किया रेडियो का इस्तेमाल सांसद बनने के बाद छोड़ दिया अभिनय : ईरानी  सरकार और संसद में बैठे लोग मिलकर देश आगे बढाएं :मोदी ग्लोबल वॉर्मिंग से गरीबी की लड़ाई पड़ सकती है कमजोर: विश्व बैंक सोयूज अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना  वरिष्ठ नेता मुरली देवड़ा का निधन, मोदी ने जताया शोक  छह साल बाद पाक के पास होंगे 200 एटमी हथियार अलग विदर्भ के लिए गडकरी ने कांग्रेस से समर्थन मांगा
टी-3 पर अफसर करा रहे कबूतरबाजी
नई दिल्ली, अंकुर शर्मा First Published:07-12-12 01:39 PM
Image Loading

दिल्ली एयरपोर्ट (टी-3) पर एक बड़े कबूतरबाजी रैकेट का खुलासा हुआ है। इमिग्रेशन और एयर इंडिया के अधिकारी की मिलीभगत से गोरखधंधा चल रहा था। इस मामले में कई संदिग्ध लोगों से पूछताछ की जा रही है।

मामले का खुलासा तब हुआ जब दुबई जा रहे आंध्र प्रदेश के आठ यात्री बताए गए काउंटर की जगह दूसरे काउंटर पर चले गए और पकड़े गए। काउंटर पर खड़े अधिकारी ने उनके पासपोर्ट पर एक टूरिस्ट वीजा और एक नौकरी वीजा देखा तो उसे संदेह हुआ और कड़ी पूछताछ ने मामले की कडियां खोल दीं। इस गिरोह में एयरपोर्ट पर तैनात कई अधिकारी शामिल हैं। हर किसी का रोल तय था। अंदर एयरलाइंस का अधिकारी यात्रियों को गलत दस्तावेजों के बावजूद उन्हें बोर्डिंग पास दिलवाता और इमिग्रेशन अधिकारी इमिग्रेशन काउंटर से उसे क्लीयर करवा देता। यात्रियों को बता दिया जाता था कि बोर्डिंग पास कहां और किससे लेने हैं। ये यात्री पहले दो चरण तो पार कर गए लेकिन आखिरी चरण में गलतफहमी का शिकार होकर फंस गए। इमिग्रेशन के आला अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। संदेह के घेरे में दिल्ली पुलिस से डेपुटेशन पर आया एक इमिग्रेशन अधिकारी है।

07:10 बजे शाम बुधवार को
आठ लोग टी-3 से अंदर वैध पासपोर्ट और टिकट के आधार पर दाखिल हुए और चेक-इन काउंटर पर खडे़ हो गए।

07:45 बजे शाम
एक इमिग्रेशन और एयर इंडिया का अधिकारी आया और चेक-इन की लाइन से दूर इन्हें बोर्डिंग पास बांटने लगा।

08:10 बजे रात
आठों इमिग्रेशन के काउंटर पर पहुंचते हैं, लेकिन वहां खड़े अधिकारी को शक होता है। पूछताछ में सामने आया फर्जीवाड़ा।

 
 
 
टिप्पणियाँ