बुधवार, 08 जुलाई, 2015 | 03:36 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    VIDEO: शाहिद और मीरा विवाह के पवित्र बंधन में बंधे, देखिए दिलकश तस्वीरें कुमाऊं में भारी बारिश से 44 मार्ग बंद, केदार पैदल यात्रा भी नहीं हुई शुरू टर्किश एयरलाइंस के विमान को उड़ान की मंजूरी, कोई बम नहीं मिला दिल्ली छोड़कर जा रहा है 'चीकू', क्या आपको भी है खबर व्यापमं मामला: शिवराज पर बढ़ा दबाव, सीबीआई जांच को हुए तैयार गंगा का जलस्तर बढ़ा, बाढ़ का खतरा सदी की सबसे बड़ी फाइट जीतकर भी हार गए मेवेदर, जानिए कैसे बख्शे नहीं जाएंगे थाने में महिला को जलाकर मारने के दोषी: अखिलेश यादव PHOTO: धौनी के लिए प्रशंसक ने बनवाया खास केक, आप भी देखें गूगल अर्थ में जल्द दिखेगा भारत के शहरों का एरियल व्यू
टी-3 पर अफसर करा रहे कबूतरबाजी
नई दिल्ली, अंकुर शर्मा First Published:07-12-12 01:39 PM
Image Loading

दिल्ली एयरपोर्ट (टी-3) पर एक बड़े कबूतरबाजी रैकेट का खुलासा हुआ है। इमिग्रेशन और एयर इंडिया के अधिकारी की मिलीभगत से गोरखधंधा चल रहा था। इस मामले में कई संदिग्ध लोगों से पूछताछ की जा रही है।

मामले का खुलासा तब हुआ जब दुबई जा रहे आंध्र प्रदेश के आठ यात्री बताए गए काउंटर की जगह दूसरे काउंटर पर चले गए और पकड़े गए। काउंटर पर खड़े अधिकारी ने उनके पासपोर्ट पर एक टूरिस्ट वीजा और एक नौकरी वीजा देखा तो उसे संदेह हुआ और कड़ी पूछताछ ने मामले की कडियां खोल दीं। इस गिरोह में एयरपोर्ट पर तैनात कई अधिकारी शामिल हैं। हर किसी का रोल तय था। अंदर एयरलाइंस का अधिकारी यात्रियों को गलत दस्तावेजों के बावजूद उन्हें बोर्डिंग पास दिलवाता और इमिग्रेशन अधिकारी इमिग्रेशन काउंटर से उसे क्लीयर करवा देता। यात्रियों को बता दिया जाता था कि बोर्डिंग पास कहां और किससे लेने हैं। ये यात्री पहले दो चरण तो पार कर गए लेकिन आखिरी चरण में गलतफहमी का शिकार होकर फंस गए। इमिग्रेशन के आला अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। संदेह के घेरे में दिल्ली पुलिस से डेपुटेशन पर आया एक इमिग्रेशन अधिकारी है।

07:10 बजे शाम बुधवार को
आठ लोग टी-3 से अंदर वैध पासपोर्ट और टिकट के आधार पर दाखिल हुए और चेक-इन काउंटर पर खडे़ हो गए।

07:45 बजे शाम
एक इमिग्रेशन और एयर इंडिया का अधिकारी आया और चेक-इन की लाइन से दूर इन्हें बोर्डिंग पास बांटने लगा।

08:10 बजे रात
आठों इमिग्रेशन के काउंटर पर पहुंचते हैं, लेकिन वहां खड़े अधिकारी को शक होता है। पूछताछ में सामने आया फर्जीवाड़ा।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड