रविवार, 28 दिसम्बर, 2014 | 00:51 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंड : चाइबासा में शुक्रवार को देर रात पुलिस ने एक अपराधी को गोली मारी, जमशेदपुर के एमजीएम में भर्तीयूपी : लखीमपुर खीरी की राजाजीपुरम कॉलोनी में लाखों का डाका, आधी रात में हथियारबंद बदमाशों का धावा
'भारत को फिजिक्स में नोबल प्राइज नहीं मिलना आश्यर्चजनक'
इलाहाबाद, एजेंसी First Published:10-12-12 04:09 PM
Image Loading

वर्ष 1985 में भौतिकी में नोबल पुरस्कार विजेता जर्मनी के वैज्ञानिक प्रो. के क्लिजिंग ने पिछले कई सालों से भारत के वैज्ञानिकों द्वारा नोबल पुरस्कार न जीतने पर आश्चर्य व्यक्त किया है।

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान आई.आई.आई.टी. में एक वैज्ञानिक संगोष्ठी में भाग लेने आए जर्मन वैज्ञानिक ने कहा कि भारत में काबिल वैज्ञानिकों की कमी नहीं है, लेकिन उनका नोबल पुरस्कार की सूची में न आना आश्चर्य पैदा करता है।

प्रो. क्लिजिंग ने टिप्पणी की कि भारतीयों की ज्योतिष विज्ञान में अधिक रुचि अनावश्यक है, क्योंकि ज्योतिष विज्ञान नहीं हैं। इस संबंध में एक भारतीय समाचार पत्र में एक प्रख्यात नोबल भविष्यवेत्ता डेविड पेंडलबरी के लेख का हवाला देते हुए उन्होंने आशा व्यक्त की कि अगले कुछ वषों में भौतिक विज्ञान में भारत को नोबल पुरस्कार मिल सकता है। यह अनुमान भारत में इस क्षेत्र में हाल के शोध पर आधारित है।

 
 
 
टिप्पणियाँ