गुरुवार, 07 मई, 2015 | 07:06 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
'भारत को फिजिक्स में नोबल प्राइज नहीं मिलना आश्यर्चजनक'
इलाहाबाद, एजेंसी First Published:10-12-12 04:09 PM
Image Loading

वर्ष 1985 में भौतिकी में नोबल पुरस्कार विजेता जर्मनी के वैज्ञानिक प्रो. के क्लिजिंग ने पिछले कई सालों से भारत के वैज्ञानिकों द्वारा नोबल पुरस्कार न जीतने पर आश्चर्य व्यक्त किया है।

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान आई.आई.आई.टी. में एक वैज्ञानिक संगोष्ठी में भाग लेने आए जर्मन वैज्ञानिक ने कहा कि भारत में काबिल वैज्ञानिकों की कमी नहीं है, लेकिन उनका नोबल पुरस्कार की सूची में न आना आश्चर्य पैदा करता है।

प्रो. क्लिजिंग ने टिप्पणी की कि भारतीयों की ज्योतिष विज्ञान में अधिक रुचि अनावश्यक है, क्योंकि ज्योतिष विज्ञान नहीं हैं। इस संबंध में एक भारतीय समाचार पत्र में एक प्रख्यात नोबल भविष्यवेत्ता डेविड पेंडलबरी के लेख का हवाला देते हुए उन्होंने आशा व्यक्त की कि अगले कुछ वषों में भौतिक विज्ञान में भारत को नोबल पुरस्कार मिल सकता है। यह अनुमान भारत में इस क्षेत्र में हाल के शोध पर आधारित है।

 
 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingरॉयल चैलेंजर्स ने दर्ज की अपनी सबसे बड़ी जीत
क्रिस गेल (117) की धुआंधार शतकीय पारी के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने एम. ए. चिदंबरम स्टेडियम में जारी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आठवें संस्करण के 40वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को 138 रनों के विशाल अंतर से हरा दिया।