शुक्रवार, 18 अप्रैल, 2014 | 16:10 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
 
'भारत को फिजिक्स में नोबल प्राइज नहीं मिलना आश्यर्चजनक'
इलाहाबाद, एजेंसी
First Published:10-12-12 04:09 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

वर्ष 1985 में भौतिकी में नोबल पुरस्कार विजेता जर्मनी के वैज्ञानिक प्रो. के क्लिजिंग ने पिछले कई सालों से भारत के वैज्ञानिकों द्वारा नोबल पुरस्कार न जीतने पर आश्चर्य व्यक्त किया है।

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान आई.आई.आई.टी. में एक वैज्ञानिक संगोष्ठी में भाग लेने आए जर्मन वैज्ञानिक ने कहा कि भारत में काबिल वैज्ञानिकों की कमी नहीं है, लेकिन उनका नोबल पुरस्कार की सूची में न आना आश्चर्य पैदा करता है।

प्रो. क्लिजिंग ने टिप्पणी की कि भारतीयों की ज्योतिष विज्ञान में अधिक रुचि अनावश्यक है, क्योंकि ज्योतिष विज्ञान नहीं हैं। इस संबंध में एक भारतीय समाचार पत्र में एक प्रख्यात नोबल भविष्यवेत्ता डेविड पेंडलबरी के लेख का हवाला देते हुए उन्होंने आशा व्यक्त की कि अगले कुछ वषों में भौतिक विज्ञान में भारत को नोबल पुरस्कार मिल सकता है। यह अनुमान भारत में इस क्षेत्र में हाल के शोध पर आधारित है।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
 
टिप्पणियाँ
 
Image Loadingमनसे यूपी, बिहार की पार्टियों की तरह नहीं: राज
भाजपा के साथ विलय की संभावनाओं को सिरे से खारिज करते हुए मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने कहा है कि उनका समर्थन भाजपा के लिए नहीं, बल्कि उसके प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के लिए है।
 
आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
आंशिक बादलसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 06:47 AM
 : 06:20 PM
 : 68 %
अधिकतम
तापमान
20°
.
|
न्यूनतम
तापमान
13°