शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 11:05 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अमेरिकी स्कूल में गोलीबारी में दो की मौत, चार घायल पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन हुदहुद से आई टी क्षेत्र को भारी क्षति हुई है :रेड्डी  मिस्र में आतंकी हमले में 31 सैनिकों की मौत गूगल के अधिकारी ने हवा में गोताखोरी का बनाया विश्व रिकॉर्ड  चीन सीमा पर 54 चौकियां बनाएगा भारत, 175 करोड़ के पैकेज की घोषणा  बर्धवान के बम थे बांग्लादेश के लिए: एनआईए नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें
इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें पूरी तरह से छेड़छाड़रोधी: सरकार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:17-12-12 06:24 PMLast Updated:17-12-12 06:26 PM
Image Loading

सरकार ने सोमवार को कहा कि मतदान के लिए उपयोग की जाने वाली इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों कि किसी तरह की छेड़छाड़ किए जाने की कोई गुंजाइश नहीं है। कानून मंत्री अश्विनी कुमार ने राज्यसभा को बताया कि विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनों ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के साथ छेड़छाड़ की आशंका को लेकर शिकायतें की थीं। इन शिकायतों की निर्वाचन आयोग ने जांच की और पाया कि शिकायतें गलत तथा बेबुनियाद हैं। उन्होंने बताया कि जांच से यह साफ हो गया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें छेड़छाड़ रोधी हैं।

कुमार ने वीरेंद्र प्रसाद वैश्य के प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि आयोग ने राजनीतिक दलों के अनुरोध पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन निर्माताओं मैसर्स भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड और मैसर्स इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड ऑफ इंडिया कारपोरेशन से पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए वोटर वेरीफिएबल पेपर ऑडिट ट्रायल (वीवीपीएटी) विकसित करने को कहा है। इस पर काम जारी है।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ