रविवार, 23 नवम्बर, 2014 | 06:18 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
हामिद अंसारी ने की कानून में सुधार की वकालत
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-01-13 03:53 PM
Image Loading

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा कि दिल्ली में हाल में 23 वर्षीय युवती से सामूहिक बलात्कार की जघन्य घटना से हमारा सिर शर्म से झुक गया है। उन्होंने कानून एवं सामाजिक आचार व्यवहार में व्यापक सुधारात्मक कदम उठाने की मांग की।
   
अंसारी ने कहा कि लोगों को सभी के मानवाधिकारों का सम्मान करना चाहिए और इसका पालन हर समय करना चाहिए जो लैंगिक समानता और न्याय पर आधारित हो। यह आधुनिक, प्रगतिशील समाज की पहली शर्त है।
   
उन्होंने कहा कि नववर्ष से ठीक पहले इस घटना ने हमें दुख और शोक में डूबो दिया। इस घटना ने एक इंसान के तौर पर हमारे सिर को शर्म से झुका दिया।
   
एनसीसी के गणतंत्र दिवस शिविर 2013 को संबोधित करते हुए अंसारी ने कहा कि व्यथा और आक्रोश व्यक्त करना पूरी तरह से जायज है और इसके आलोक में कानून, प्रक्रिया, सामाजिक आचार व्यवहार, मूल्यों एवं सामाजिक व्यवहार के संदर्भ में तेजी से व्यापक सुधार में किया जाना चाहिए।
   
गौरतलब है कि दिल्ली में 16 दिसंबर को चलती बस में 23 वर्षीय एक युवती से सामूहिक बलात्कार किया गया और 29 दिसंबर को सिंगापुर के अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी।

 
 
 
टिप्पणियाँ