शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 14:25 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आम आदमी की उम्मीदों को पूरा करे सरकार: शिवसेना वर्जिन का अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट की मौत केंद्र सरकार के सचिवों से आज चाय पर चर्चा करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा आज से शुरू करेगी विशेष सदस्यता अभियान आयोग कर सकता है देह व्यापार को कानूनी बनाने की सिफारिश भाजपा की अपनी पहली सरकार के समारोह में दर्शक रही शिवसेना बेटी ने फडणवीस से कहा, ऑल द बेस्ट बाबा झारखंड में हेमंत सरकार से समर्थन वापसी की तैयारी में कांग्रेस अब एटीएम से महीने में पांच लेन-देन के बाद लगेगा शुल्क  पेट्रोल 2.41 रुपये, डीजल 2.25 रुपये सस्ता
उत्तर प्रदेश में शीतलहर से 26 लोगों की मौत
लखनऊ, एजेंसी First Published:24-12-12 11:30 AM
Image Loading

उत्तर प्रदेश में शीतलहर व घने कोहरे की वजह से बीते 24 घंटे में 26 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। राजधानी लखनऊ  सहित राज्य के अन्य शहरों में तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। घने कोहरे की वजह से रेल एवं हवाई सेवाओं पर भी इसका खासा असर पड़ा है।

जबर्दस्त शीतलहर और ठंड की वजह से बीते 24 घंटों में प्रदेश में अलग-अलग हिस्सों में 26 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक राज्य में शीतलहर और ठंड की वजह से गोरखपुर-बस्ती मंडल में छह, जौनपुर और बलिया में चार-चार, मिर्जापुर में दो तथा आजमगढ, भदोही, चंदौली, वाराणसी में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। इसके अलावा रविवार देर रात घने कोहरे की वजह से आगरा में हुए अलग-अलग सड़क हादसों में छह लोगों की मौत हो गई।

कोहरे की वजह से राजधानी आने वाली रेलगाडिम्यों को अलग-अलग स्टेशनों पर रोककर चलाया गया, जिससे यात्रियों को अपना आठ घंटे का सफर 16 घंटे में तय करना पड़ा।

रेलवे के एक अधिकारी के मुताबिक घने कोहरे की वजह से पंजाब एक्सप्रेस, दून एक्सप्रेस, त्रिवेणी एक्सप्रेस, ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस, पटना-मथुरा एक्सप्रेस, गोरखधाम और बेगमपुरा एक्सप्रेस कई घंटो की देरी से चल रही हैं।

अधिकारियों के मुताबिक इसके अलावा भी वैशाली एक्सप्रेस, अवध एक्सप्रेस, बाघ एक्सप्रेस सहित करीब चार दर्जन रेलगाडिम्यों का परिचालन प्रभावित हुआ।

रेलवे के अलावा राजधानी में स्थित चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर विमान सेवाओं पर भी कोहरे का असर दिखायी दिया। कोहरे की वजह से हवाई अड्डे पर चार उड़ानें प्रभावित हुई हैं।

मौसम विभाग के अनुसार राज्य में इस मौसम में पहली बार अधिकतम तापमान में 11 डिग्री सेल्सियस की गिरावट देखी गई है। रविवार को दिनभर धूप न निकलने की वजह से ही अधिकतम पारे में जबर्दस्त गिरावट दर्ज की गई।

रविवार को राजधानी का अधिकतम तापमान सामान्य से 11 डिग्री नीचे 11.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

उप्र मौसम विभाग के निदेशक जे.पी. गुप्ता ने बताया कि वायुमंडल में अधिकतम आर्द्रता स्तर लगभग 100 प्रतिशत बना हुआ है, जिसके चलते अगले कुछ दिनों तक यही स्थिति बरकरार रहेगी।

 
 
 
टिप्पणियाँ