शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 22:57 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
अखिलेश सरकार के 54% मंत्रियों पर आपराधिक मामले
लखनऊ, एजेंसी First Published:23-12-12 09:06 PMLast Updated:23-12-12 09:38 PM
Image Loading

उत्तर प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति मजबूत करने को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता बताने वाली अखिलेश यादव सरकार में शामिल 54 प्रतिशत मंत्रियों के विरुद्ध गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

यह खुलासा आज यहां चुनाव में सुधार के लिए जन जागरण अभियान में लगे एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफार्म्स और नेशनल इलेक्शन वाच ने किया है।

एडीआर के संस्थापक सदस्य त्रिलोचन शास्त्री और इलेक्शन वाच के प्रदेश संयोजक संजय सिंह ने आज यहां संवाद्दाताओं से बातचीत में कहा कि विधानसभा चुनाव में नामांकन पत्रों के साथ दाखिल हलफनामे की पड़ताल से पता चला है कि अखिलेश यादव सरकार में शामिल 48 में से 26 मंत्रियों ने स्वयं ही अपने विरुद्ध विभिन्न आपराधिक मामले दर्ज रहे होने की बात की है। उनमें से नौ के विरुद्ध बलात्कार, हत्या, हत्या का प्रयास, अपहरण और डकैती जैसे मामले शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि अमरोहा से सपा विधायक और अखिलेश यादव सरकार में वस्त्र उद्योग राज्यमंत्री महबूब अली ने अपने वरुद्ध हत्या, अपहरण और डकैती सहित सर्वाधिक 15 आपराधिक मामले दर्ज होने की बात स्वीकार की है, जबकि रसद आपूर्ति मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ने आठ और ग्राम्य विकास राज्यमंत्री अरविंद सिंह गोप ने अपने विरुद्ध तीन आपराधिक मामले दर्ज होने की बात जाहिर की है।
 
 
 
टिप्पणियाँ