शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 14:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
देश तानाशाही की ओर जा रहा है, यह बिहार का चुनाव नहीं पूरे देश को बचाने का चुनाव है: लालू।लालू यादव ने सपा को 5 सीट देने की घोषणा की।उत्तराखंडः रुड़की के मोहनपुरा फाटक के पास टैंकर और बाइक की टक्कर, बाइक सवार महिला की मौत, पति घायल।झारखंड: रांची में डीपीएस स्कूल के पास ट्रेन से कटकर एक व्यक्ति की मौत।
अखिलेश सरकार के 54% मंत्रियों पर आपराधिक मामले
लखनऊ, एजेंसी First Published:23-12-2012 09:06:55 PMLast Updated:23-12-2012 09:38:17 PM
Image Loading

उत्तर प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति मजबूत करने को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता बताने वाली अखिलेश यादव सरकार में शामिल 54 प्रतिशत मंत्रियों के विरुद्ध गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं।

यह खुलासा आज यहां चुनाव में सुधार के लिए जन जागरण अभियान में लगे एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफार्म्स और नेशनल इलेक्शन वाच ने किया है।

एडीआर के संस्थापक सदस्य त्रिलोचन शास्त्री और इलेक्शन वाच के प्रदेश संयोजक संजय सिंह ने आज यहां संवाद्दाताओं से बातचीत में कहा कि विधानसभा चुनाव में नामांकन पत्रों के साथ दाखिल हलफनामे की पड़ताल से पता चला है कि अखिलेश यादव सरकार में शामिल 48 में से 26 मंत्रियों ने स्वयं ही अपने विरुद्ध विभिन्न आपराधिक मामले दर्ज रहे होने की बात की है। उनमें से नौ के विरुद्ध बलात्कार, हत्या, हत्या का प्रयास, अपहरण और डकैती जैसे मामले शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि अमरोहा से सपा विधायक और अखिलेश यादव सरकार में वस्त्र उद्योग राज्यमंत्री महबूब अली ने अपने वरुद्ध हत्या, अपहरण और डकैती सहित सर्वाधिक 15 आपराधिक मामले दर्ज होने की बात स्वीकार की है, जबकि रसद आपूर्ति मंत्री रघुराज प्रताप सिंह ने आठ और ग्राम्य विकास राज्यमंत्री अरविंद सिंह गोप ने अपने विरुद्ध तीन आपराधिक मामले दर्ज होने की बात जाहिर की है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को 7वां झटका, आर. अश्विन आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शनिवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरे निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना 7वां विकेट गंवा दिया।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।