शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 00:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
शीना बोरा के इस्तीफे पर फर्जी साइनः राकेश मारिया।
उत्तर प्रदेश में शीतलहर बनी जानलेवा, 47 की मौत
लखनऊ, एजेंसी First Published:27-12-2012 12:06:22 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

उत्तर प्रदेश में शीतलहर और कड़ाके की ठंड जानलेवा बनती जा रही है। पिछले 24 घंटों के दौरान भीषण ठंड से सूबे के अलग-अलग जिलों में 47 लोग दम तोड़ चुके हैं। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों के दौरान मौसम में खास बदलाव की उम्मीद नहीं है।

उप्र में घने कोहरे और कड़ाके की ठंड ने अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। पिछले 24 घंटों के दौरान पूर्वाचल में 18, अवध में 14, मध्य उप्र में सात और बरेली मंडल में आठ लोगों की जान कड़ाके की ठंड की वजह से चली गई है।

पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक अमेठी, रायबरेली और बाराबंकी में तीन-तीन, बहराइच में दो, सुल्तानपुर, गोंडा एवं बलरामपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत ठंड से हुई है।

इसके अलावा बलिया, गाजीपुर, जौनपुर, वाराणसी, भदोही और मऊ में दो-दो तथा चंदौली, सोनभद्र, मिर्जापुर और आजमगढ़ में एक-एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है।

बरेली में दो, शाहजहांपुर में तीन, पीलीभीत में दो व बदायूं में एक और उन्नाव, महोबा, बांदा में दो-दो तथा कनौज में एक व्यक्ति ने सर्दी की वजह से दम तोड़ दिया है।

वहीं दूसरी ओर सूबे में कानपुर देहात सबसे अधिक सर्द स्थान रहा। यहां का न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस से भी कम दर्ज किया गया।

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जे.पी. गुप्ता के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से पहाड़ी इलाकों के साथ ही उत्तरी भारत के मौसम में मामूली उठापटक होने की सम्भावना है। हालांकि इस दौरान पारा कम होने से ठंड एवं गलन भी जारी रहेगी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।