शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 11:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
2जी केस में ए राजा, कनिमोझी, शाहिद बलवा समेत 19 लोगों पर आरोप तयअदालत ने मामले में, द्रमुक अध्यक्ष एम करुणानिधि की पत्नी दयालु अम्माल के खिलाफ भी आरोप तय किएदिल्ली की अदालत ने कोयला ब्लॉक आवंटन घोटाला मामले में गुप्ता तथा 4 अन्य को जमानत दीअदालत ने आरोपियों को एक-एक लाख रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि की जमानत पर रिहा किया
यूपी में मिलेंगे रंगीन मतदाता पहचान पत्र
लखनऊ, एजेंसी First Published:28-11-12 07:46 PM

यदि सब कुछ योजना के अनुसार रहा तो गाजियाबाद एवं लखनऊ के मतदाता 2014 के लोकसभा चुनावों में रंगीन मतदाता पहचान पत्र के साथ अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। नए मतदाता पहचान पत्र पर मतदाता की तस्वीर स्पष्ट रूप से दिखेगी जिससे फर्जी मतदान को रोकने में मदद मिलेगी। राज्य के निर्वाचन आयुक्त ने लखनऊ एवं गाजियाबाद में प्रयोग के तौर पर यह योजना चलाने के लिए मुख्य निर्वाचन आयुक्त को पत्र लिखा है।

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त उमेश सिन्हा ने कहा कि वह मतदान पहचान पत्रों को श्वेत श्याम से रंगीन करने के लिए निर्वाचन आयोग की स्वीकृति का इंतजार कर रहे हैं। सिन्हा ने कहा कि वर्तमान पत्रों पर फोटो के अस्पष्ट होने के कारण असली मतदाताओं की पहचान करना मुश्किल हो जाता है।

प्रायोगिक चरण के दौरान पत्र में कोई भी चिप नहीं लगाई जाएगी लेकिन निर्वाचन आयोग ने भविष्य में इसे लगाने की सम्भावनाओं से इंकार नहीं किया है। राज्य निर्वाचन आयोग जन सुविधा केंद्रों से पहचान पत्रों के आसानी से उपलब्ध कराने की दिशा में भी काम कर रहा है। सिन्हा ने कहा कि विचार यह है कि पहचान पत्रों के लिए प्रतीक्षा सूची को घटाया जाए।

यह कई चरणों में होगा। पहले तहसील और बाद में ब्लॉक स्तर पर मतदाताओं का पंजीकरण होगा। आशा है कि कोई भी व्यक्ति पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, नियोक्ता द्वारा जारी पहचान पत्र या पासपोर्ट की प्रति देकर अस्थाई मतदाता पहचान पत्र ले जा सकेगा। सिन्हा ने बताया कि शुरू में सार्वजनिक कम्पनियों के पहचान पत्र पर यह सेवा उपलब्ध रहेगी।

 
 
 
टिप्पणियाँ