रविवार, 25 जनवरी, 2015 | 17:44 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
हमारी दोस्ती का असर दोनों देशों के रिश्तों में दिख रहा है: ओबामाओबामा : अकेले में मिलते हैं तो एक दूसरे को समझते हैंएक-दूसरे को जानने की कोशिश की : मोदीमोदी : पर्सनल कमेस्ट्री मायने रखती हैअकेले में जो बात होती है उसे पर्दे में रहने दें : मोदीरक्षा क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर हमारी चर्चा हुई:ओबामाओबामा : मंगलवार को रेडियो पर भारतीय लोगों से बातचीत का इंतजार हैहम परमाणु करार पर अमल की ओर आगे बढ़े :ओबामाओबामा :हम भारत-अमेरिका के रिश्तों को नई ऊंचाई तक ले जाना चाहते हैंहम अपने व्यापारिक रिश्तों को और आगे ले जाएंगे : ओबामाओबामा : चाय पर चर्चा के लिए पीएम मोदी का शुक्रियान्योते के लिए धन्यवाद : ओबामाओबामा ने हिंदी में कहा मेरा प्यार भरा नमस्कारओबामा ने नमस्ते के साथ अपना बयान शुरू कियापर्यावरण के लिए दोनों देश मिलकर काम करेंगे :मोदीआतंकी गुटों पर कार्रवाई को लेकर कोई भेद नहीं रखेंगे :मोदीमोदी: रक्षा के क्षेत्र में, समुद्री सुरक्षा के क्षेत्र में हम सहयोग बढ़ाएंगेपरमाणु करार के व्यवसायिक नतीजे अब दिखेंगे : मोदीमोदी : पिछले कुछ दिनों में दोनों देशों में गर्मजोशी दिखीअमेरिका सबसे अच्छा दोस्त है :मोदीमैं अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने हमारा न्यौता स्वीकारा। मैं जानता हूं कि दोनों कितने व्यस्त रहते हैं- मोदीमोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत में ओबामा और मिशेल का स्वागत है। गणतंत्र दिवस पर हमारा महमान बनना खास हैहैदराबाद हाउस में हुई मोदी और ओबामा की मुलाकातओबामा और मोदी देंगे साझा बयानथोड़ी देर में मीडिया के सामने आएंगे ओबामा और मोदी
तीन माह में हो क्षमा याचिका पर फैसला: उज्ज्वल निकम
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:16-12-12 08:09 PMLast Updated:16-12-12 09:23 PM
Image Loading

संसद हमले के अभियुक्त अफजल गुरू को यथाशीघ्र फांसी पर चढ़ाने की मांग के बीच वर्ष 2008 के मुम्बई हमले के विशेष सरकारी वकील ने कहा है कि किसी भी दया याचिका पर फैसला करने के लिए राष्ट्रपति के पास तीन माह की समय सीमा होनी चाहिए।

उज्ज्वल निकम ने यहां एक सामाजिक कार्यक्रम में कहा कि कानून में यह प्रावधान किया जाना चाहिए कि यदि राष्ट्रपति दया याचिका पर अपना निर्णय नहीं देते हैं तो वह स्वत: ही खारिज हो जाए। उन्होंने कहा कि राजव्यवस्था में खंडित जनादेश आने एवं दिनोंदिन स्थिति उलझननूर्ण बनने से ऐसे मुद्दों पर जल्द निर्णय खींचतान की वजह से संभव नहीं है।

उन्होंने कहा कि आतंकवादी हमलों के स्थानों पर कुशल सुरक्षा अभियान के लिए खबरिया चैनलों को दूर रखा जाए क्योंकि इससे बाधा खड़ी होती है। निकम ने एक सेवानिवृत्त सीबीआई निदेशक की इस शिकायत की भी आलोचना की कि कुछ मुद्दों पर उन पर दबाव डाला गया। उन्होंने कहा कि यदि ऐसी बात थी तो उन्होंने उसी समय ही क्यों नहीं इस्तीफा दे दिया।

हाल ही में गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा था कि वह संसद के शीतकालीन सत्र के बाद मत्युदंड पाए अफजल गुरू और छह अन्य की क्षमा याचिका संबंधी दस्तावेज देखेंगे। उन्होंने कहा था, केवल अफजल गुरू का दस्तावेज नहीं है। मुझे सात फाइलें देखनी हैं। मैं संसद सत्र के बाद देखूंगा। संसद का शीतकालीन सत्र 20 दिसंबर तक है।

गुरू की क्षमा याचिका को समीक्षा के लिए राष्ट्रपति ने केंद्रीय गृहमंत्रालय के पास भेजा था। उसे वर्ष 2001 के संसद हमले में मौत की सजा सुनाई गई है। इस हमले में नौ लोग मारे गए थे जबकि 16 अन्य घायल हुए थे।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड