रविवार, 02 अगस्त, 2015 | 05:46 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    बिहार का चुनाव बना प्रतिष्ठा का प्रश्न, झारखंड के भाजपाइयों ने डाला बिहार में डाला याकूब को फांसी दिए जाने के विरोध में सुप्रीम कोर्ट के डिप्टी रजिस्ट्रार ने दिया इस्तीफा दिल्ली में तेज हुआ पोस्टर वार, केजरीवाल सरकार के विज्ञापनों के खिलाफ भाजपा ने लगाए पोस्टर पूर्व गृह मंत्री सुशील शिंदे ने कहा, मैंने संसद में हिंदू आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल कभी नहीं किया  पाकिस्तानी रेंजर्स ने किया सीजफायर का उल्लंघन, बीएसफ ने दिया करारा जवाब खेल रत्न के लिए सानिया के नाम की सिफारिश भाजपा सांसद वरुण गांधी का बयान, 94 फीसदी दलित, अल्पसंख्यक समुदाय को मिली फांसी की सजा विमान हादसे में ओसामा बिन लादेन के परिवार के सदस्यों की मौत  10 रुपए में ऐप उपलब्ध कराएगा गूगल प्ले  ISIS की शर्मनाक हरकत: चार साल के बच्चे को दी तलवार और कहा...मां का सिर काट डालो
चोट से हुई थी कांस्टेबल तोमर की मौत: पोस्टमार्टम रिपोर्ट
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:26-12-2012 06:00:02 PMLast Updated:26-12-2012 07:36:19 PM
Image Loading

दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सुभाष तोमर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बुधवार को खुलासा हुआ है कि उनकी मौत किसी कुंद चीज से सीने और गर्दन पर लगी चोटों के कारण दिल का दौरा पड़ने से हुई थी।

कांस्टेबल की मौत के कारण को लेकर पैदा आशंकाओं के बीच पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने दिल्ली पुलिस को बड़ी राहत दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट राममनोहर लोहिया अस्पताल के चिकित्सकीय अधीक्षक डॉक्टर टीएस सिद्धू के इस बयान विपरीत है कि कुछ मामूली चोटों के अलावा तोमर को कोई बड़ी बाहरी चोट नहीं थी और न ही कोई गंभीर अंदरूनी चोट थी।

रिपोर्ट में कहा गया कि 47 वर्षीय तोमर के बायीं ओर की तीसरी, चौथी और पांचवीं पसली टूटी हुई थी और कई जगहों से हल्का रक्तस्राव है। पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल द्वारा गठित मेडिकल बोर्ड ने मौत के कारण के बारे में कहा कि संभवत: किसी कुंद चीज से सीने और गर्दन पर लगी चोटों के कारण दिल का दौरा पड़ने से मौत हुई।

सूत्रों ने कहा कि कोशिकाओं में रक्त का बहाव मौजूद था और शरीर पर किसी कुंद चीज से हुए जोरदार प्रहार से गर्दन की मांसपेशियों तथा अन्य चोटें लगीं। रिपोर्ट के बारे में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (नई दिल्ली) केसी द्विवेदी ने कहा कि यह पाया गया कि उनके सीने, गर्दन और पैरों पर चोटें थीं, जिसके कारण उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हुई।

द्विवेदी ने कहा कि उन्हें काफी चोटें लगी थीं। उनकी पसलियां टूटी हुई थीं। इन चोटों के कारण उनकी स्थिति बिगड़ी और फिर उन्हें दिल का दौरा पड़ा। गौरतलब है कि तोमर की मौत पर विवाद उस समय पैदा हुआ था जब एक लड़की सहित दो चश्मदीद गवाहों ने दावा किया था कि तोमर पर हमला नहीं किया गया और वह रविवार को इंडिया गेट पर प्रदर्शनकारियों का पीछा करते हुए उनके सामने जमीन पर गिर पड़े थे।

यह पूछे जाने पर कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद क्या पुलिस राममनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करेगी, द्विवेदी ने कहा कि वह इस संबंध में कोई टिप्पणी नहीं कर सकते क्योंकि जांच अपराध शाखा के पास है। उन्होंने कहा कि मैं डॉक्टरों या चश्मदीद गवाहों के बयानों पर टिप्पणी नहीं कर सकता।

 

 
 
 
अन्य खबरें
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingआक्रामक शैली बरकरार रखें कोहली: द्रविड़
राहुल द्रविड़ को बतौर टेस्ट कप्तान श्रीलंका में पहली पूर्ण सीरीज खेलने जा रहे विराट कोहली के कामयाब रहने का यकीन है और उन्होंने कहा कि कोहली को अपनी आक्रामक शैली नहीं छोड़नी चाहिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?