शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 00:53 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
शीना बोरा के इस्तीफे पर फर्जी साइनः राकेश मारिया।
तिब्बत पर संयुक्त राष्ट्र को सौंपी जाएगी याचिका
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:09-12-2012 08:46:04 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

तिब्बत में आत्मदाह की बढ़ती घटनाओं से चिंतित तिब्बत की निर्वासित संसद ने कहा है कि वह 350,000 लोगों के हस्ताक्षर युक्त याचिका संयुक्त राष्ट्र संघ के विभिन्न संस्थाओं को सौंपेगा।

तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा के जन्म दिन छह जुलाई से ‘फ्लेम ऑफ ट्रूथ’ नामक याचिका पर हस्ताक्षर अभियान शुरू किया गया था। इस याचिका पर 90 देशों के 351000 लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं। इसमें से 30000 हस्ताक्षर ऑनलाइन किए गए हैं जिसमें मुख्यमंत्री, सांसद, छात्र, कार्यकर्ता एवं पत्रकार शामिल हैं।

निर्वासित संसद के सदस्य कर्मा येशी ने रविवार को बताया, ‘हम लोग कल एक साथ संयुक्त राष्ट्र के न्यूयार्क स्थित मुख्यालय, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद, जेनेवा में युनाइटेड नेशंस हाई कमीशनर फॉर ह्युमन राइट्स के कार्यालय पर और नई दिल्ली में स्थित संयुक्त राष्ट्र सूचना केंद्र को एक साथ याचिका सौंपेंगे।’

उन्होंने कहा कि 10 दिसम्बर अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अलावा ‘ग्लोबल सालिडेरिटी डे फॉर तिब्बत’ के तौर पर भी मनाया जाएगा। येशी ने कहा कि तिब्बत में चीन के दमनात्मक शासन के खिलाफ 2009 से आठ दिसम्बर 2012 तक 94 लोगों ने आत्मदाह किया जिसमें से 79 की मौत हो गई।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।