शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 09:21 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    केंद्र सरकार के सचिवों से आज चाय पर चर्चा करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा आज से शुरू करेगी विशेष सदस्यता अभियान आयोग कर सकता है देह व्यापार को कानूनी बनाने की सिफारिश भाजपा की अपनी पहली सरकार के समारोह में दर्शक रही शिवसेना बेटी ने फडणवीस से कहा, ऑल द बेस्ट बाबा झारखंड में हेमंत सरकार से समर्थन वापसी की तैयारी में कांग्रेस अब एटीएम से महीने में पांच लेन-देन के बाद लगेगा शुल्क  पेट्रोल 2.41 रुपये, डीजल 2.25 रुपये सस्ता फड़णवीस को मोदी ने चढ़ाईं सत्ता की सीढ़ियां  फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली, उद्धव भी पहुंचे
पृथक तेलंगाना के लिए विधेयक की मांग
हैदराबाद, एजेंसी First Published:04-01-13 06:21 PM

तेलंगाना के कांग्रेसी नेताओं ने शुक्रवार को मांग की कि पृथक तेलंगाना राज्य के गठन के लिए आगामी सत्र के दौरान संसद में एक विधेयक पेश किया जाए।

तेलंगाना के कुछ सांसदों और आंध्र प्रदेश के क्षेत्रीय मंत्रियों ने इस मुद्दे पर पिछले सप्ताह हुई सर्वदलीय बैठक के बाद की स्थिति की समीक्षा के लिए यहां एक बैठक की।

बैठक में एक प्रस्ताव पारित कर मांग की गई कि कांग्रेस नेतृत्व वाली केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार संसद में एक विधेयक पेश करे।

वरिष्ठ नेता और पंचायत राज मंत्री के. जना रेड्डी, पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को प्रस्ताव सौंपने के लिए शुक्रवार को ही दिल्ली रवाना होने वाले हैं।

रेड्डी ने संवाददाताओं से कहा कि बैठक में मांग की गई कि केंद्र सरकार तेलंगाना के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए यथासम्भव जल्द से जल्द इस मुद्दे को सुलझाए। उन्होंने कहा, ''तेलंगाना राज्य गठन के अलावा दूसरा कोई विकल्प हमें स्वीकार नहीं होगा।''

जना रेड्डी ने कहा, ''कोई भी निर्णय जल्द से जल्द लिया जाना चाहिए, क्योंकि इसमें होने वाली देरी से विकास प्रभावित होगा।''

क्षेत्र के कांग्रेसी नेता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व से मिलने के लिए 10 जनवरी को दिल्ली जाएंगे।

28 दिसम्बर को नई दिल्ली में हुई सर्वदलीय बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा था कि सरकार एक महीने के भीतर कोई समाधान पेश करेगी।

 
 
 
टिप्पणियाँ