गुरुवार, 02 जुलाई, 2015 | 02:39 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अब मोबाइल फोन से डायल हो सकेगा लैंडलाइन नंबर गोद से गिरी बच्ची, बचाने के लिए मां भी चलती ट्रेन से कूदी बलात्कार मामलों में कोई समझौता नहीं, औरत का शरीर उसके लिए मंदिर के समान होता है: सुप्रीम कोर्ट अब यूपी पुलिस 'चुड़ैल' को ढूंढेगी, जानिए क्या है पूरा मामला  खुलासा: एक रुपया तैयार करने का खर्च एक रुपये 14 पैसे दार्जिलिंग: भूस्‍खलन के कारण 38 लोगों की मौत, पीएम ने जताया शोक, 2-2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान यूनान ने किया डिफॉल्ट, नहीं चुकाया अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष का कर्ज विकी‍पीडिया पर नेहरू को मुस्लिम बताये जाने पर भड़की कांग्रेस, पूछा अब क्या कार्रवाई करेगी मोदी सरकार PHOTO: जब मंत्रीजी ने पकड़ी लेडी डॉक्टर की कॉलर और बोले... ललित मोदी के ट्वीट पर बवाल, भाजपा नहीं करेगी वरुण गांधी का बचाव
दिल्ली पुलिस प्रमुख से संसदीय समिति ने की पूछताछ
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:04-01-13 11:41 PM

सामूहिक बलात्कार मामले में दिल्ली पुलिस आयुक्त नीरज कुमार से संसदीय समिति ने शुक्रवार को तीसरी बार पूछताछ की, जिसमें उन्होंने पुलिसकर्मियों और गश्त वाहनों की कमी को सुरक्षा व्यवस्था में अड़चन के लिए जिम्मेदार ठहराया।

दरअसल, 16 दिसंबर की इस वीभत्स घटना के बाद से नीरज कुमार आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं। इस घटना ने पूरे देश को आक्रोशित कर दिया है। उन्होंने गह मामलों पर संसद की स्थायी समिति के समक्ष इस तरह के मामलों से निपटने के लिए त्वरित अदालतों की हिमायत की।

इस समिति को आज फौजदारी कानून संशोधन विधेयक की प्रति भी मिल गई। कुमार एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने समिति को इस मामले के घटनाक्रमों के बारे में जानकारी दी।

सूत्रों ने बताया कि कुमार ने समिति के समक्ष इस बात का जिक्र किया कि दिल्ली में पुलिसकर्मियों  कमी है और रिक्तियों को भरने की फौरी आवश्यकता है। समिति के समक्ष कुमार की यह दूसरी पेशी थी। वह महिला सशक्तिकरण पर संसदीय समिति के समक्ष भी इससे पहले पेश हो चुके हैं।

एम वेंकैया नायडू की अध्यक्षता वाली स्थायी समिति ने विधि सचिव से भी पूछताछ की। उन्हें भी आज पेश होने के लिए तलब किया गया था।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड