बुधवार, 01 जुलाई, 2015 | 22:27 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अब मोबाइल फोन से डायल हो सकेगा लैंडलाइन नंबर गोद से गिरी बच्ची, बचाने के लिए मां भी चलती ट्रेन से कूदी बलात्कार मामलों में कोई समझौता नहीं, औरत का शरीर उसके लिए मंदिर के समान होता है: सुप्रीम कोर्ट अब यूपी पुलिस 'चुड़ैल' को ढूंढेगी, जानिए क्या है पूरा मामला  खुलासा: एक रुपया तैयार करने का खर्च एक रुपये 14 पैसे दार्जिलिंग: भूस्‍खलन के कारण 38 लोगों की मौत, पीएम ने जताया शोक, 2-2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान यूनान ने किया डिफॉल्ट, नहीं चुकाया अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष का कर्ज विकी‍पीडिया पर नेहरू को मुस्लिम बताये जाने पर भड़की कांग्रेस, पूछा अब क्या कार्रवाई करेगी मोदी सरकार PHOTO: जब मंत्रीजी ने पकड़ी लेडी डॉक्टर की कॉलर और बोले... ललित मोदी के ट्वीट पर बवाल, भाजपा नहीं करेगी वरुण गांधी का बचाव
जगन मामले की जांच कर रहे अधिकारी को सुरक्षा
हैदराबाद, एजेंसी First Published:02-04-12 01:36 PM
Image Loading

आंध्र प्रदेश सरकार ने वाईएसआर कांग्रेस के नेता वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी के खिलाफ आय के ज्ञात स्रेतों से अधिक सम्पत्ति के मामले तथा सोहराबुद्दीन मुठभेड़ जैसे कई महत्वपूर्ण मामलों की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के संयुक्त निदेशक वी.वी. लक्ष्मीनारायण को 'वाई' श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने का निर्णय लिया है।

इसके तहत लक्ष्मीनारायण के लिए दो सशस्त्र सुरक्षाकर्मी चौबीसों घंटे उपलब्ध रहेंगे इसके अलावा उन्हें बुलेट प्रूफ वाहन मिलेगा। सीबीआई के संयुक्त निदेशक के लिए  कुल चार सुरक्षाकर्मियों को मंजूरी दी गई है। उनके आवास एवं कार्यालय पर भी पुलिस सुरक्षा मौजूद होगी।

पुलिस सूत्र ने सोमवार को बताया कि जगनमोहन रेड्डी के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया को देखते हुए सुरक्षा समीक्षा समिति (एसआरसी) ने यह निर्णय लिया है।

यद्यपि लक्ष्मीनारायण को किसी प्रकार की धमकी नहीं मिली है। लेकिन इन महत्वपूर्ण मामलों की जांच आगे बढ़ने पर एसआरसी ने खुफिया एजेंसियों द्वारा संयुक्त निदेशक की जान को खतरा होने का अंदेशा जताने पर यह निर्णय लिया है।

सीबीआई लक्ष्मीनारायण के नेतृत्व में पहले ही अवैध खनन मामले में कर्नाटक के पूर्व मंत्री जी. जनार्दन रेड्डी के खिलाफ आरोप पत्र पेश कर चुकी है।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड