सोमवार, 06 जुलाई, 2015 | 00:55 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत  फेसबुक ने 15 साल बाद मां-बेटे को मिलाया  व्हाट्सएप मैसेज से बवाल कराने वाला बीए का छात्र मोहित गिरफ्तार मुरादाबाद: नदी में पलटी जुगाड़ नाव, आठ डूबे, सर्च ऑपरेशन जारी यूपी के रामपुर में दो भाईयों की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी बिहार के हाजीपुर में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, छह गिरफ्तार झारखंड: चतरा के टंडवा में हाथियों ने कई घर तोड़े, खा गए धान बिहार में आंखों का अस्पताल बनाने के लिए इंडो-अमेरिकन्स का बड़ा कदम मुजफ्फरनगर के शुक्रताल में हजारों मछलियां मरीं, संत समाज बैठा धरने पर
भारत के 40 मछुआरे रिहा होकर लौटे घर
रामेश्वरम (तमिलनाडु), एजेंसी First Published:13-12-12 01:58 PM
Image Loading

श्रीलंका नौसेना द्वारा गत तीन दिसंबर को हिरासत में लिए गए 40 भारतीय मछुआरे अपनी रिहाई के बाद बुधवार शाम तमिलनाडु पहुंच गए।

इन मछुआरों को नागपट्टिनम और करईकल के तटों से कुछ दूर समुद्र से हिरासत में लिया गया था और श्रीलंका के अधिकारियों ने उन्हें बाद में रिहा कर दिया।

इन चालीस मछुआरों को श्रीलंका नौसेना द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को गत पांच दिसंबर को एक पत्र लिखकर मामले में हस्तक्षेप करने और कोलंबो से उनकी शीघ्र रिहाई करने की अपील करने की मांग की थी।

उन्होंने कहा कि इस तरह का उत्पीड़न रोज-रोज की बात हो गई है और श्रीलंका नौसेना का ऐसा कोई भी कदम दोनों देशों के बीच न सिर्फ तनाव को बढ़ाएगा, बल्कि मछुआरा समुदाय में असंतोष और हताशा का भाव भी पैदा करेगा।

इस बीच, खबर है कि बुधवार को 68 नौकाओं में मछली पकड़ने समुद्र में गए 272 मछुआरों को भी कच्चातिवु के पास श्रीलंकाई नौसेना के कर्मचारियों ने रोका था। सूत्रों ने बताया कि श्रीलंका के नौसैनिकों ने हवा में गोलियां भी चलाईं और मछुआरों के मछली पकड़ने वाले जाल काट दिए, जिसके बाद मछुआरे वापस लौट आए।

 
 
 
अन्य खबरें
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड