शुक्रवार, 25 अप्रैल, 2014 | 13:34 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
अपहरण की आशंका के बीच विमान बाली हवाईअड्डे पर उतरा: इंडोनेशिया वायुसेना
 
Image Loading अन्य फोटो दिल्ली में गत 16 दिसंबर को युवती के साथ एक चलती बस में सामूहिक बलात्कार किया गया, उसे बर्बरता से मारा-पीटा गया और बस से बाहर फेंक दिया गया।
संबंधित ख़बरे
सामूहिक बलात्कार पीड़िता के सिर में जख्म, फेफड़ों में संक्रमण
सिंगापुर, एजेंसी
First Published:28-12-12 02:02 PM
Last Updated:28-12-12 09:14 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में भर्ती दिल्ली में सामूहिक बलात्कार की शिकार 23 वर्षीय छात्रा के संबंध में अस्पताल का कहना है कि उसके सिर में गंभीर जख्म हैं, फेंफड़ों और पेट में संक्रमण है और वह तमाम प्रतिकूल परिस्थितियों से जूझ रही हैं।
   
अस्पताल ने आज कहा कि उनकी हालत अभी भी बेहद गंभीर बनी हुई है। माउंड एलिजाबेथ अस्पताल के सीईओ डॉक्टर केल्विन लोह ने कहा कि कल उसके अस्पताल लाए जाने के बाद हमारे चिकित्सा दल ने जांच में पाया कि दिल का दौरा पड़ने के अलावा उसके फेंफड़ों और पेट में संक्रमण है और साथ ही सिर में भी गंभीर जख्म हैं।
   
एक बयान में डॉक्टर लोह ने कहा कि मरीज अभी भी अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रही है। पीड़िता की हालत के बारे में संवादाताओं को जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि 28 दिसंबर सुबह 11 बजे (भारतीय समय सुबह साढ़े आठ बजे) तक मरीज की हालत लगातार गंभीर बनी हुई है।
   
नई दिल्ली में रविवार 16 दिसंबर की रात चलती बस में सामूहिक बलात्कार के बाद पीड़िता को बुरी तरह पीटा गया था। वह फिलहाल अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में भर्ती है।
   
दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल में छात्रा के तीन ऑपरेशन हुए थे। वहां इलाज के दौरान ज्यादातर समय उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। डॉक्टरों ने मरीज की आंत को भी ऑपरेशन कर निकाल दिया था।
   
डॉक्टर लोह ने कहा कि उसके आने के बाद से ही विभिन्न विशेषज्ञ लगातार उसके इलाज में लगे हुए हैं। वे अगले कुछ दिनों में उनकी हालत में सुधार लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।
   
डॉक्टर लोह ने कहा कि भारतीय उच्चायोग इस मामले में अस्पताल और मरीज के परिवार की पूरी सहायता कर रहा है और साथ ही उसे सर्वोत्तम सुविधा मुहैया कराने की कोशिश कर रहा है। अस्पताल में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और आईसीयू में प्रवेश देने से पहले हर व्यक्ति की जांच की जा रही है।
   
दूसरी ओर नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जोर दिया है कि ऐसा जघन्य अपराध करने वालों को जल्द-से-जल्द न्याय की जद में लाया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आश्वासन दिया है कि अपराध के बाद लापरवाही करने वालों को नहीं बख्शा जाएगा।
   
मनमोहन सिंह ने कहा कि हम दोषियों को जितनी जल्दी संभव हो न्याय की जद में लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि पीड़िता को सर्वोत्तम चिकित्सा सुविधाएं मुहैया करायी जा रही हैं।
   
अपनी बेटी के पास पहुंचे पीड़िता के पिता को फिर से आश्वासन दिया गया है कि उसका पूरा ख्याल रखा जा रहा है। द स्ट्रेटस टाइम्स अखबार की खबर के अनुसार, पीड़िता का परिवार अंग्रेजी भाषा नहीं बोल सकता और वे अस्पताल के कर्मचारियों से बातचीत करने के लिए दुभाषियों पर निर्भर हैं।
   
भारतीय उच्चायोग ने मदद के लिए परिवार के साथ एक अधिकारी नियुक्त किया है।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
Image Loadingलोकसभा चुनाव 2014: ओडिशा में कई जगहों पर पुनर्मतदान
ओडिशा में उन नौ मतदान केंद्रों पर शुक्रवार को पुनर्मतदान हो रहा है, जहां धांधली और अन्य अनियमितताओं के आरोपों के कारण 17 अप्रैल को मतदान प्रक्रिया बाधित हुई थी।
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
आंशिक बादलसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 06:47 AM
 : 06:20 PM
 : 68 %
अधिकतम
तापमान
20°
.
|
न्यूनतम
तापमान
13°