गुरुवार, 23 अक्टूबर, 2014 | 14:54 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
मप्र में कांग्रेस का शिवराज सरकार पर होर्डिंग से प्रहार
भोपाल, एजेंसी First Published:03-01-13 09:33 AM
Image Loading

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने में भले ही वक्त हो, मगर यहां राजनीति का पारा चढ़ने लगा है। केंद्र सरकार पर प्रदेश की उपेक्षा का आरोप लगाने वाली शिवराज सिंह चौहान सरकार पर कांग्रेस ने हमले के लिए होर्डिंग को हथियार बनाया है और वह शिवराज सिंह चौहान सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े कर जवाब मांग रही है।

राज्य में इस वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं, लिहाजा भाजपा हर हाल में सत्ता में बने रहना चाहती है वहीं कांग्रेस के लिए सत्ता हासिल करना सबसे बड़ा लक्ष्य है। यही कारण है कि मसला कोई भी हो कांग्रेस या भाजपा एक दूसरे पर हमला करने का मौका हाथ से जाने नहीं देना चाहते।

प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान लगातार केंद्र सरकार पर राज्य की उपेक्षा का आरोप लगाते रहे हैं। राज्य को पर्याप्त कोयला न देने, इंदिरा आवास में कटौती, राजमार्ग मरम्मत के लिए राशि मुहैया न कराने जैसे कई आरोप लगाकर चौहान केंद्र सरकार को मौके बे मौके पर कटघरे में खड़ा किया है।
 
राज्य सरकार की ओर से केंद्र पर लगाए जाने वाले उपेक्षा के आरोपों के जवाब में कांग्रेस ने होर्डिंग को हथियार बनाया है। कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कुछ माह पहले एक होर्डिंग भोपाल में लगवाया था जिसमें एक भवन निर्माता, खनन कारोबारी व तत्कालीन भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष प्रभात झा से जुडे कुछ सवाल मुख्यमंत्री से पूछे थे। यह बात अलग है कि यह होर्डिंग कुछ घंटों के भीतर ही हटा दिया गया था।

अब कांग्रेस ने भोपाल सहित सभी जिलों में राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत केंद्र सरकर से मिली राशि का हिसाब मांगते हुए होर्डिंग लगाए गए है। इन होर्डिंगों में कहा गया है कि केंद्र सरकार से मिले 8611 करोड़ रुपये मिले हैं, यह राशि कहां गई इसका जवाब दे सरकार। इन होर्डिंग में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह व प्रदेशाध्यक्ष कांतिलाल भूरिया की तस्वीरें भी लगी हैं।

कांग्रेस के होर्डिंग अभियान पर सरकार के प्रवक्ता व स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा सवाल उठाते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जन आंदोलन तो खड़ा नहीं कर पा रही है, लिहाजा वह पर्चे व होर्डिंग का सहारा ले रही है।

मिश्रा का कहना है कि कांग्रेस के सारे आरोप निराधार है और वह चाहकर भी प्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान की छवि को प्रभावित नहीं कर पाएगी क्योंकि चौहान ने हर वर्ग के कल्याण का अभियान जो चलाया है।
 
 
 
टिप्पणियाँ