रविवार, 05 जुलाई, 2015 | 20:31 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत  फेसबुक ने 15 साल बाद मां-बेटे को मिलाया  व्हाट्सएप मैसेज से बवाल कराने वाला बीए का छात्र मोहित गिरफ्तार मुरादाबाद: नदी में पलटी जुगाड़ नाव, आठ डूबे, सर्च ऑपरेशन जारी यूपी के रामपुर में दो भाईयों की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी बिहार के हाजीपुर में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, छह गिरफ्तार झारखंड: चतरा के टंडवा में हाथियों ने कई घर तोड़े, खा गए धान बिहार में आंखों का अस्पताल बनाने के लिए इंडो-अमेरिकन्स का बड़ा कदम मुजफ्फरनगर के शुक्रताल में हजारों मछलियां मरीं, संत समाज बैठा धरने पर
मुलायम ने मांगा मुसलमानों के लिए आरक्षण
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:17-12-12 08:17 PMLast Updated:18-12-12 10:09 AM
Image Loading

सरकारी नौकरियों में काम कर रहे अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को पदोन्नति में आरक्षण दिए जाने के विरोध के कारण अलग-थलग पड़ी समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने सोमवार को कहा कि सरकार को मुसलमानों को आरक्षण देने की दिशा में काम करना चाहिए। मुलायम ने यह धमकी भी दी कि पदोन्नति में आरक्षण आया तो वह संप्रग को समर्थन के बारे में विचार करेंगे।

संसद परिसर में इस बाबत सवाल पूछे जाने पर मुलायम ने कहा कि हम समर्थन जारी रखने के बारे में विचार करेंगे। उनकी टिप्पणी ऐसे समय आई है, जब राज्यसभा में आज उनकी पार्टी ने संविधान संशोधन के जरिए मुसलमानों को आनुपातिक आरक्षण दिए जाने की मांग उठाई। सपा के इस कदम को अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को पदोन्नति में आरक्षण दिए जाने के कदम की काट के रूप में देखा जा रहा है।

सच्चर समिति की रिपोर्ट का हवाला देते हुए मुलायम ने कहा कि मुस्लिम समुदाय की स्थिति अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लोगों से बदतर है इसलिए उन्हें आरक्षण मिलना चाहिए और इसका कोई विकल्प नहीं है। उनके खिलाफ चल रही सीबीआई जांच के परिप्रेक्ष्य में पूछे गए एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह किसी भी दबाव में नहीं आएंगे।

 

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड