मंगलवार, 27 जनवरी, 2015 | 22:23 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
कर्नल राय को सोमवार को ही गणतंत्र दिवस के मौके पर वीरता सम्मान प्रदान किया गया था।कश्मीर मुठभेड़ में कर्नल राय और सिपाही शहीद।'मन की बात' पर ई बुक निकाली जाएगी: मोदी।जॉब फॉर आल, यस वी कैन: मोदी।मन की बात सुनने के लिए देशवासियों का आभारी हूं: मोदी।मोटापे और डायबिटीज से लड़ने में भारत की मदद को तैयार: बराक।मेरे पास वही समस्याएं आती हैं जिन्हे कोई हल नहीं कर पाता है: बराक।मुझे बेंजामिन फेंकलिन का जीवन चरित्र प्रेरक लगता है: मोदी।युवकों दुनिया को एक करो: मोदी।मोदी ने ओबामा को बेटियों के साथ भारत आने का निमंत्रण दिया।आज का युवा देश की सीमाओं से बंधा नहीं है: बराक।कुछ बनने के नहीं कुछ करने के सपने देखो: मोदी।मैं राष्ट्रपति पद से हटने के बाद बेटियों के साथ भारत आना चाहूंगा: बराक।मोदी को बराक ओबामा ने किताब के प्रमुख हिस्सों को पढ़कर सुनाया था।बराक ने मुझे स्वामी विवेकानंद के भाषण वाली किताब दी थी, यह बात मेरे दिल को छू गई थी: मोदी।अपनी बेटियों को बताऊंगा कि जितना आप जानतीं हैं भारत उतना ही भव्य है: बराक।मेरी बेटी को भारत की संस्कृति काफी पसंद है: बराक।मेरी बेटियां भारत आने को उत्सुक थीं, लेकिन स्कूली परीक्षा में व्यस्तता के कारण नहीं आ पाईं: बराक।मानव सेवा को ईश्वर सेवा मानने की गांधी जी की शिक्षा अनुकरणीय: बराक।भारत और अमेरिका दुनिया के दो बड़े लोकतंत्र हैं: बराक।बराक ओबामा ने मन की बात में भारत के लोगों को नमस्ते कहा।रविवार को हुई थी कार्यक्रम की रिकार्डिंग।बराक का मतलब है, वह जिसे आशीर्वाद प्राप्त है: मोदी।रेडियो पर मोदी-ओबामा ने शुरू की मन की बात।देवघर कोर्ट ने भड़काऊ भाषण मामले में केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह के खिलाफ सम्मन जारी किया।मुजफ्फरपुर: ट्रेन इंजन से टकराई कार, एक की मौत।कोली की फांसी रोकने संबंधी याचिका पर सुनवाई पूरी, कल आएगा फैसला।
बाबुओं से बोले थरूर, नागरिकों के प्रति उत्तरदायी हों
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:11-12-12 08:48 PM
Image Loading

मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री शशि थरूर ने कहा है कि नौकरशाहों को बेहतर सेवाओं से जुड़ी देश के नागरिकों की मांगों को पूरा करने के लिए उत्तरदायी होना चाहिए। थरूर ने येल विश्वविद्यालय और ओपी जिंदल ग्लोबल विश्वविद्यालय (जीजेयू) के बीच एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद एक सम्मेलन में कहा कि देश के जागरुक नागरिकों की मांगों को पूरा करने लिए तैयार रहना होगा। जवाबदेही नए जमाने में नौकरशाहों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

जीजेयू की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार थरूर ने नौकरशाहों का आहवान किया कि देश में डिजिटल क्रांति की पूरी क्षमता का लाभ उठाने के लिए अपने कौशल को बेहतर बनाने पर जोर दें। जीजेयू के कुलपति राजकुमार ने कहा कि येल विश्वविद्यालय के साथ सहयोग नेतृत्व शिक्षा और विश्व स्तर पर नागरिक सेवा को काफी बढ़ावा मिलेगा।

थरूर ने आज दिल्ली में एक अन्य कार्यक्रम में कहा कि देश के सभी युवा रोजगारोन्मुखी नहीं है और ऐसे में शिक्षा तंत्र को रोजगार के अनुकूल बनाने की सख्त जरूरत है। उन्होंने एक समारोह में कहा कि कई कंपनियां अपने यहां लोगों को नौकरी पर रखने के बाद प्रशिक्षित करती हैं क्योंकि उन्हें अपने यहां के विश्वविद्यालय में उपयुक्त प्रशिक्षण नहीं मिला होता है। ऐसे में सभी युवाओं को रोजगार के लायक बनाने की जरूरत है।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड