शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 13:15 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मेरठ: दोस्तों के साथ आये युवा व्यापारी की चाकुओं से गोदकर हत्यारक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, अमित शाह से मिलने पहुंचे। 2.30 बजे रक्षा मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस, OROP की घोषणा संभवउत्तराखंड: पिथौरागढ़ में शिक्षकों ने सम्मान समारोह का बहिष्कार कर सड़क पर भीख मांगी, चार माह से वेतन नहीं मिलने से नाराज हैं जूनियर हाईस्कूलों के शिक्षकहरियाणा के फरीदाबाद में 6 सितंबर से शुरु होगी मेट्रो, पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन, सीएम खट्टर ने की प्रेस कांफ्रेंस
सरकार ने हमारे सदस्यों को संसद से बाहर कराया: सपा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:13-12-2012 07:37:03 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

समाजवादी पार्टी (सपा) ने केंद्र सरकार पर गुरुवार को अपने दो सदस्यों को जबरन बाहर निकलवाने का आरोप लगाया और अन्य दलों की भी निंदा की कि इस मुद्दे पर उन्होंने उसका साथ नहीं दिया।

सपा के राज्यसभा से बहिर्गमन के बाद सपा नेता राम गोपाल यादव ने कहा, ''यह पूरी तरह असंवैधानिक है। सभापति ने नियम के तहत हमारे सदस्यों का नाम लिया। इसके बाद यदि हम सदन से बाहर नहीं निकलते तो मार्शल को बुलाया जाता।''

सपा सदस्य नौकरी में प्रोन्नति के लिए दलितों को आरक्षण देने का प्रावधान करने वाले विधेयक का विरोध कर रहे हैं।

यादव ने कहा कि केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री के कहने पर उन्हें संसद के उच्च सदन से बाहर निकालने के लिए कहा गया। उन्होंने कहा, ''पहले दो सपा सदस्यों का नाम लिया गया, जिसके बाद मंत्री ने सभापति से सभी सपा सदस्यों का नाम लेने के लिए कहा। इसलिए हमें सदन से निकलना पड़ा।''

एक अन्य सपा नेता मुनव्वर सलीम ने कहा, ''यह विधेयक सामाजिक न्याय नहीं लाएगा, बल्कि इससे समाज में खाई बढ़ेगी। यह बसपा का विधेयक है और कांग्रेस इसे पारित कराने में मदद दे रही है।''

सपा ने हालांकि इसके बावजूद केंद्र की कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार से समर्थन वापस नहीं लेने की बात कही।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingटीचर्स डे पर तेंदुलकर ने आचरेकर सर को ऐसे किया 'सलाम'
मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट के बल्लेबाजी के लगभग सभी बड़े रिकॉर्ड्स दर्ज हैं। तेंदुलकर को क्रिकेट के भगवान तक का दर्जा दिया गया है, लेकिन इन सबके पीछे एक इंसान का सबसे बड़ा योगदान रहा है, तेंदुलकर के गुरु रमाकांत आचरेकर।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।