मंगलवार, 27 जनवरी, 2015 | 13:51 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
ओबामा ने हिंदी में जय हिंद कहकर अपना संबोधन खत्म कियाहम जैसे देश सम्पूर्ण नहीं, बहुत चुनौतियां हैं : ओबामाओबामा : भारत और अमेरिका के लोग महेनतीमैं और मिशेल बड़े परिवार से नहीं थे हमारे पास ज्यादा पैसा नहीं था : ओबामाभारत में बहुत विविधता है, दुनिया के लिए मिसाल है : ओबामाशाहरुख, मिल्खा , मैरीकॉम पर हर भारतीय को गर्व : ओबामा
इस साल अक्टूबर से शुरू होगा मिशन मंगल
कोलकाता, एजेंसी First Published:04-01-13 03:47 PMLast Updated:04-01-13 03:48 PM
Image Loading

लाल ग्रह के नाम से मशहूर मंगल ग्रह के पर्यावरण को जानने व उस पर जीवन के निशान खोजने के लिए अक्टूबर में मंगल खोज मिशन की शुरुआत होगी। एक शीर्ष अंतरिक्ष अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

खोज अभियान के प्रभारी जेएन गोस्वामी ने बताया कि हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं और अक्टूबर मध्य तक हमारा मंगल मिशन शुरू होने की उम्मीद है। यहां भारतीय विज्ञान कांग्रेस से इतर गोस्वामी ने कहा कि मिशन को अभी एक आधिकारिक नाम दिया जाना बाकी है।

470 करोड़ रुपये का यह मिशन देश की 5.5 करोड़ किलोमीटर लंबी यात्रा पर पृथ्वी से एक अंतरिक्ष यान को भेजने की क्षमता प्रदर्शित करेगा। मिशन के तहत मंगल ग्रह पर जीवन के निशान खोजे जाएंगे। अहमदाबाद स्थित फिजीकल रिसर्च लेबोरेटरी के निदेशक गोस्वामी ने कहा कि इस मिशन का बहुत महत्वपूर्ण वैज्ञानिक मकसद है, क्योंकि हम मंगल के पर्यावरण का अध्ययन करना चाहते हैं। इस मिशन से उन बातों का पता चलेगा, जिन्हें पूर्व में अन्य देश नहीं खोज पाए हैं।

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी की चेन्नई के श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष ठिकाने से पीएसएलवी- एक्सएल रॉकेट के जरिए 1.4 टन के मार्टिन अंतरिक्ष यान को लाल ग्रह के लिए प्रक्षेपित करने की योजना है। इस मंगल मिशन के जरिए भारत उन पांच शीर्ष देशों के समूह में शामिल हो जाएगा, जो पहले ही इस तरह के मिशन शुरू कर चुके हैं। ये देश अमेरिका, रूस, यूरोप, चीन व जापान हैं।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड