शुक्रवार, 03 जुलाई, 2015 | 22:45 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    फिल्म देखने से पहले पढ़ें 'गुड्डू रंगीला' का रिव्यू फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत हेमा मालिनी के ड्राइवर को कुछ ही घंटों में मिली जमानत, बच्ची की मौत से हेमा दुखी झारखंड के चाईबासा में रिश्वत लेते दारोगा रंगे हाथ गिरफ्तार झारखंड: हजारीबाग में पिता ने अबोध बेटी को पटक कर मार डाला जमशेदपुर में स्कूल वाहन चालक हड़ताल पर, अभिभावक परेशान
सामूहिक बलात्कार की पीड़िता ने पूछा, क्या वे पकड़े गए
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:20-12-12 09:21 PM
Image Loading

राजधानी दिल्ली में रविवार की रात चलती बस में सामूहिक बलात्कार एवं वीभत्स हमले का शिकार बनी एक 23 वर्षीय पैरा-मेडिकल छात्रा ने गुरुवार को अस्पताल में मिलने आए परिवार के सदस्यों से पूछा, क्या वे पकड़े गए।

सूत्रों ने बताया कि मुंह में ट्यूब लगे होने के कारण बोल पाने में अक्षम यह छात्रा कागज पर लिख कर अपनी बात कह रही है। उन्होंने बताया कि इस छात्रा को पता है कि उसका मामला मीडिया में आ चुका है। उसने अपने परिवार से पूछा कि क्या आरोपी पकड़े गए हैं।

ऐसी जानकारी मिली है कि छात्रा का परिवार मीडिया का आभारी है, लेकिन अपनी पहचान को सार्वजनिक नहीं होने देना चाहता है। इस छात्रा ने कल अपनी मां से कहा था, मैं जीना चाहती हूं।

इससे पहले छात्रा का इलाज कर रहे सफदरजंग अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि वह अब स्थिर, चौकस और होश में है। चिकित्सकों को उसके पेट का ऑपरेशन कर उसकी छोटी आंत निकालनी पड़ी जो बिल्कुल क्षत विक्षत थी।

सफदरजंग अस्पताल के स्वास्थ्य अधीक्षक डॉ़ बी डी अथानी ने बताया कि एलेक्टिव एक्सप्लोरेटरी लैपराटोमी के बाद की रात शांत रही। सुबह में उसकी हालत स्थिर थी। वह अब भी आईसीयू में जीवनरक्षक प्रणाली पर है। उसके रक्तचाप, पेशाब, सांस लेने की गति जैसे महत्वपूर्ण मानदंड स्वीकार्य दायरे के भीतर हैं ।

 
 
 
अन्य खबरें
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड