गुरुवार, 03 सितम्बर, 2015 | 00:28 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
राजेश खन्ना के परिवार को बंबई हाईकोर्ट से राहत
मुंबई, एजेंसी First Published:03-12-2012 03:50:22 PMLast Updated:03-12-2012 05:30:23 PM
Image Loading

बंबई उच्च न्यायालय ने दिवंगत सुपरस्टार राजेश खन्ना के परिवार के सदस्यों के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामले में कार्यवाही पर आज 17 दिसंबर तक रोक लगा दी। यह मामला एक महिला ने दायर किया है, जिसका दावा है कि उनका राजेश खन्ना के साथ लिव इन का संबंध था।
    
न्यायमूर्ति के यू चांदीवाल ने उपनगरीय बांद्रा की मजिस्ट्रेट अदालत की कार्यवाही पर रोक लगाते हुए अनीता आडवाणी को नोटिस जारी किया। आडवाणी का दावा है कि राजेश खन्ना के आखिरी कुछ साल के दौरान उन्होंने पत्नी की तरह उनकी देखभाल की थी।
    
अदालत राजेश खन्ना की पत्नी डिंपल और दामाद अक्षय कुमार की याचिका पर सुनवाई कर रही थी। याचिका में उन्होंने मजिस्ट्रेट अदालत की अपने तथा परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ शुरू कार्यवाही को चुनौती दी थी। राजेश खन्ना की बेटियां टि्वंकल और रिंकी भी ऐसी ही याचिकाएं दाखिल करने की प्रक्रिया में हैं
     
आडवाणी ने डिंपल तथा अन्य के खिलाफ अपनी शिकायत में दावा किया था कि उन्हें खन्ना के निधन के बाद उनके बंगले आशीर्वाद से बाहर कर दिया गया था। उन्होंने राजेश खन्ना की संपत्ति से गुजारा भत्ते की मांग की है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingश्रीलंका में 22 साल बाद भारत ने टेस्ट सीरीज जीती
भारतीय क्रिकेट टीम ने सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर जारी तीसरे टेस्ट मैच के पांचवें दिन श्रीलंका को 117 रनों से हराया। इस जीत के साथ भारत ने 22 साल बाद टेस्ट सीरीज पर कब्जा कर इतिहास रचा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

मैथ नहीं जानते
टीचर-सोनू, तुम्हारे पापा ने 10 प्रतिशत के सालाना ब्याज पर 5000 रुपए कर्ज लिए। वे एक साल बाद कर्ज वापस करते हैं, बताओ वह कुल कितने पैसे वापस करेंगे?
सोनू-कुछ भी नहीं।
टीचर (गुस्से में)-तुम मैथ नहीं जानते।
सोनू-सर, मैं तो मैथ जानता हूं, पर आप मेरे पिताजी को नहीं जानते