शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 00:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
शीना बोरा के इस्तीफे पर फर्जी साइनः राकेश मारिया।
राज पर कार्रवाई नहीं करने पर पुलिस आयुक्त को नोटिस
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:22-12-2012 07:13:59 PMLast Updated:23-12-2012 10:59:35 AM
Image Loading

दिल्ली की एक अदालत ने बिहार के निवासियों के खिलाफ टिप्पणियों पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ जारी किए गए गैर जमानती वारंट पर अमल नहीं करने पर शनिवार को मुंबई पुलिस आयुक्त को कारण बताओ नोटिस जारी किया।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश मनीष यदुवंशी ने आदेश दिया कि 28 सिंतबर 2012 को अदालत के आदेश का पालन नहीं करने के संदर्भ में मुंबई पुलिस आयुक्त को गृह मंत्रालय के जरिए कारण बताओ नोटिस जारी किया जाए। अदालत ने आज यह आदेश भी दिया कि इस कार्यवाही को पुलिस के अपराध शाखा के संयुक्त आयुक्त के जरिए पूरा किया जाए, जो अदालत के आदेश का पालन करने के लिए एक अधिकारी को तैनात करें।

इस अदालत ने 28 सितंबर को बिहार के सुधीर कुमार और सुधीर कुमार ओझा की शिकायत पर ठाकरे के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया। शिकायत में ठाकरे पर बिहार में होने वाली छठ पूजा को नौटंकी और संख्याबल का प्रदर्शन कहने का आरोप लगाया गया है।

उधर, ठाकरे ने आज अपने वकील हर्षित जैन के जरिए अदालत में व्यक्तिगत तौर पर पेशी से छूट मांगी और उन्होंने इसकी वजह अपने दिवंगत चाचा बाल ठाकरे से संबंधित कुछ कर्मकांडों में शामिल होना बताया। अदालत ने मामले की सुनवाई 31 जनवरी के लिए तय की है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।