रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 01:11 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
प्रमोशन में आरक्षण पर चर्चा शुरू: सपा का वाकआउट
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:13-12-12 07:59 PM
Image Loading

राज्यसभा में गुरुवार को नाटकीय घटनाक्रम मे बाद सरकारी नौकरियों में पदोन्नति में अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजातियों को आरक्षण प्रदान करने संबंधी विधेयक पर अंतत: चर्चा शुरू हो गयी। अधिकतर दलों ने इसे अपना समर्थन दिया। हालांकि इसका विरोध कर रही समाजवादी पार्टी के सदस्य विधेयक पर चर्चा की शुरुआत से पहले ही सदन से वाकआउट कर गये।

इससे पहले सदन में इस विधेयक की चर्चा का विरोध कर रहे सपा के दो सदस्यों को आसन से सदन से बाहर चले जाने के लिए कहा गया और इस वजह से उत्पन्न गतिरोध के कारण बैठक को तीन बार संक्षिप्त रूप से स्थगित किया गया।

चर्चा के दौरान विधेयक का शिवसेना ने भी विरोध किया। भाजपा ने विधेयक के प्रति अपना समर्थन व्यक्त करते हुए इसमें कुछ संशोधन की मांग की। संविधान 117वां संशोधन विधेयक पर चर्चा की शुरुआत करते हुए राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष अरुण जेटली ने कहा कि मेरा दल सामाजिक न्याय की अवधारणा के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

भाजपा नेता ने कहा कि उनकी पार्टी ऐतिहासिक रूप से अवसरों से वंचित लोगों के उत्थान के लिए सकारात्मक कदम का समर्थन करती है, लेकिन उन्होंने इस तरह की पदोन्नतियां करते समय सेवा में कार्यक्षमता से संबंधित बिन्दुओं में बदलाव की मांग की।

विधेयक में अनुच्छेद 335 से संबंधित प्रावधानों के बारे में सरकार से पुनर्विचार करने की मांग करते हुए भाजपा नेता ने कहा कि मौजूदा स्वरूप में विधेयक का अदालत में अटक जाने का जोखिम है।
उन्होंने कहा कि यह एक सामाजिक योजना है, जिसका काफी फायदा हुआ है लेकिन अभी काफी दूरी तय किया जाना बाकी है।
 
 
 
टिप्पणियाँ