बुधवार, 08 जुलाई, 2015 | 01:25 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    VIDEO: शाहिद और मीरा विवाह के पवित्र बंधन में बंधे, देखिए दिलकश तस्वीरें कुमाऊं में भारी बारिश से 44 मार्ग बंद, केदार पैदल यात्रा भी नहीं हुई शुरू टर्किश एयरलाइंस के विमान को उड़ान की मंजूरी, कोई बम नहीं मिला दिल्ली छोड़कर जा रहा है 'चीकू', क्या आपको भी है खबर व्यापमं मामला: शिवराज पर बढ़ा दबाव, सीबीआई जांच को हुए तैयार गंगा का जलस्तर बढ़ा, बाढ़ का खतरा सदी की सबसे बड़ी फाइट जीतकर भी हार गए मेवेदर, जानिए कैसे बख्शे नहीं जाएंगे थाने में महिला को जलाकर मारने के दोषी: अखिलेश यादव PHOTO: धौनी के लिए प्रशंसक ने बनवाया खास केक, आप भी देखें गूगल अर्थ में जल्द दिखेगा भारत के शहरों का एरियल व्यू
संसद में बेटे का पहला भाषण देखकर गदगद हुए राष्ट्रपति
शांतिनिकेतन, पश्चिम बंगाल, एजेंसी First Published:19-12-12 04:31 PM
Image Loading

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के लिए एक पिता के तौर यह गौरवांवित महसूस करने का पल था, जब उन्होंने बेटे को संसद में कंपनी विधेयक पर पहला भाषण देते हुए देखा।

अपने बेटे अभिजीत का लोकसभा में पहला भाषण पूरा होने पर मुखर्जी के चेहरे पर मुस्कान देखते ही बन रही थी। लोकसभा में कंपनी विधेयक मंगलवार को पारित हुआ।

राष्ट्रपति ने बांग्ला भाषा में कहा कि अच्छा बोला। सशक्त रूप से अपना नजरिया पेश किया। दो दिन के दौरे पर यहां आए राष्ट्रपति ने सदन की पूरी कार्यवाही देखी, जब अभिजीत ने शुद्ध लाभ की परिभाषा और कारपोरेट सामाजिक दायित्व के उद्देश्य की गणना के तरीके पर स्पष्टीकरण मांगा।

अभिजीत जंगीपुर सीट से सांसद चुने जाने से पहले सेल में महाप्रबंधक थे। लोकसभा ने बहुप्रतीक्षित संसोधनों के साथ कंपनी विधेयक 2011 को मंजूरी देते हुए लाभ कमाने वाली कंपनियों के लिए सीएसआर से संबंधित क्रियाकलाप पर खर्च करने को अनिवार्य कर दिया है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड