शुक्रवार, 31 जुलाई, 2015 | 10:34 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
लीबिया के सर्ट शहर से 4 भारतीय शिक्षक अगवा, आईएस आतंकियों पर अगवा करने का शक।रामपुर: पूर्णिमा पर रामगंगा नदी स्नान कर रहे दंपत्ति डूबे, पत्नी को ग्रामीणों ने निकला, पति की तलाश जारीगोरखपुर के एयरफोर्स स्टेशन से सटी कॉलोनी में सीआरपीएफ जवान की पत्नी और तीन बच्चों की हत्या। जवान छत्तीसगढ़ में तैनात है। हत्या के बाद हत्यारों ने घर में बाहर से लगा दिया था ताला। पत्नी के फोन न उठाने पर आज सुबह सीआरपीएफ जवान जब घर पहुंचा तब पता चला हत्याओं का।
राष्ट्रपति ने अतबीर की दया याचिका पर किया फैसला
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:04-12-2012 02:17:08 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने यह शीर्ष पद संभालने के बाद पहली बार सजा कम करते हुए एक अभियुक्त अतबीर की मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदल दिया।
    
एक सत्र न्यायालय ने अतबीर को 1996 में सौतेली मां, सौतेली बहन और सौतेले भाई की एक संपत्ति विवाद में हत्या करने के मामले में 2004 में मत्युदंड दिया था। उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय ने अगस्त 2010 में निचली अदालत के फैसले को बरकरार रखा था।
    
इस साल जून में गह मंत्रालय ने राष्ट्रपति को अतबीर की सजा आजीवन कारावास में बदलने की सिफारिश की थी। राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, राष्ट्रपति ने 15 नवंबर को इस दया याचिका का निबटारा करते हुए मौत की सजा को आजीवन कारावास में बदल दिया।
    
पांच नवंबर को राष्ट्रपति ने मोहम्मद अजमल कसाब को दया याचिका खारिज कर दी थी। कसाब को उच्चतम न्यायालय ने पिछले साल अगस्त में मुंबई आतंकी हमला मामले में मृत्युदंड दिया था। राष्ट्रपति भवन के अनुसार, मुखर्जी ने नौ दया याचिकाओं को विचार करने के लिए गह मंत्रालय के पास भेजा है।
    
इन याचिकाओं में संसद हमला मामले में दोषी करार अफजल गुरू की दया याचिका भी शामिल है। राष्ट्रपति के पास अब केवल साइबन्ना निंगप्पा नतिकार की दया याचिका लंबित है। उच्चतम न्यायालय ने पत्नी और बेटी की हत्या के मामले में 2005 में नतिकार को मौत की सजा सुनाई थी। गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति सचिवालय को पांच नवंबर को अपने सिफारिश भेजी है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingपे टीएम ने बीसीसीआई से 2019 तक प्रायोजन अधिकार खरीदे
पे टीएम के मालिक वन97 कम्युनिकेशंस ने आज भारत में अगले चार साल तक होने वाले घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों के अधिकार 203.28 करोड़ रूप में खरीद लिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड