बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 06:08 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    भारत को लौटाया जाए कोहिनूर हीरा: कीथ वाज  याकूब की फांसी की सजा बदलने के लिए महाराष्ट्र के मुस्लिम विधायकों ने राष्ट्रपति से की अपील हो जाइए तैयार अब स्पाइसजेट सिर्फ 999 रुपये में कराएगी हवाई सफर कलाम के सम्मान में संसद दो दिनों के लिए स्थगित, मंत्रिमंडल ने शोक जताया बढ़ चला बिहार कार्यक्रम को हाईकोर्ट का झटका, ऑडियो-विडियो प्रदर्शन पर रोक CCTV में कैद हुए गुरदासपुर हमले के गुनहगार, AK-47 लिए सड़कों पर घूमते दिखे आतंकी साड़ी, शॉल, आम की कूटनीति बंद कर पाकिस्तान के खिलाफ इंदिरा जैसा साहस दिखाये PM मोदी 29 जुलाई से बाजार में आएगा माइक्रोसॉफ्ट ओएस विंडोज-10, करें डाउनलोड पीएम मोदी ने दी कलाम को श्रद्धांजलि, बोले- भारत ने खोया अपना रत्न कलाम का अंतिम संस्कार रामेश्वरम में होगा, पीएम मोदी सहित कई हस्तियों के पहुंचने की संभावना
भीड़ से निपटने के लिए कानून की जरूरत: चिदंबरम
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:26-12-2012 08:50:38 PMLast Updated:26-12-2012 11:13:07 PM
Image Loading

एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों को सजा दिए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस लाठीचार्ज के तरीके पर आलोचनाओं से घिरी सरकार ने बुधवार को माना कि अचानक जुटने वाली भीड़ से निपटने में वह पूरी तरह सक्षम नहीं है।

वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने संवादाताओं से कहा, ''अचानक जुटने वाली भीड़ एक नई परिपाटी है। कई बार यह भीड़ नाचने गाने के लिए जमा होती है, लेकिन कई बार प्रदर्शन करने के लिए जमा हो जाती है। हमें इसे ध्यान में लेने की जरूरत है। मैं नहीं समझता कि हम इससे निपटने में पूरी तरह सक्षम हैं। हमारे पास सोप्स (मानक संचालन प्रक्रिया) होना चाहिए।''

प्रदर्शनकारियों से निपटने में पुलिस की विफलता के संबंध में पूछे गए सवाल का चिदंबरम जवाब दे रहे थे। प्रदर्शनकारियों में कई महिलाएं भी शामिल थीं। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को भयभीत किया और लाठीचार्ज किया जिससे स्थिति और बिगड़ गई।

बाद में प्रदर्शनकारियों की भीड़ नियंत्रित करने के लिए अधिकारियों को राजधानी के मुख्य हिस्से और उससे सटे मेट्रो स्टेशनों को बंद करना पड़ा। सरकार के इस कदम से मुख्य हिस्से में अवस्थित सरकारी कार्यालयों में काम करने वालों समेत हजारों दैनिक यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingप्रतिबंध हटाने के लिए बीसीसीआई से संपर्क करूंगा: श्रीसंत
जब वह तिहाड़ जेल में था तो वह आत्महत्या के बारे में सोच रहा था लेकिन तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को अब उम्मीद बंध गई है कि वह वापसी कर सकते हैं और खुद पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिये वह बीसीसीआई से संपर्क करेंगे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड