शुक्रवार, 28 नवम्बर, 2014 | 05:38 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
अफजल गुरू की दया याचिका पर गौर करेंगे: शिंदे
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:10-12-12 05:21 PMLast Updated:10-12-12 09:57 PM
Image Loading

गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे संसद में जारी शीतकालीन सत्र के बाद संसद हमला मामले में दोषी करार अफजल गुरू और छह अन्य की दया याचिकाओं से जुड़ी फाइलों पर गौर करेंगे। उन्होंने एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से कहा कि केवल अफजल गुरू की (फाइल) नहीं है। मेरे पास गौर करने के लिए (दया याचिकाओं से जुड़ी) सात फाइलें हैं। मैं संसद सत्र के बाद फाइलें देखूंगा। संसद का शीतकालीन सत्र 20 दिसंबर तक चलेगा।

गुरू की दया याचिका राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा गृह मंत्रालय को समीक्षा के लिए वापस भेजी गई है। उन्हें 2001 के संसद हमले के मामले में मौत की सजा दी गई है। इस हमले में जवानों सहित नौ लोगों की मौत हुई थी और 16 घायल हुए थे। सीमा सुरक्षा बल के 47वें स्थापना दिवस समारोह के मौके पर जवानों को संबोधित करते हुए शिंदे ने बल में प्रशिक्षण के उच्चस्तर की प्रशंसा की और कहा कि सरकार कौशल सुधार के लिए हरसंभव मदद सुनिश्चित करेगी।

शिंदे ने कहा कि मुझे पता है कि बीएसएफ जवान कठिन परिस्थितियों और परिवार से दूर रहकर काम करते हैं। सैनिक आतंकवाद विरोधी, नक्सल विरोधी, आपदा प्रबंधन, सीमा प्रबंधन और संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन के लिए तैनात हैं। हमें सभी मोर्चे पर अच्छे परिणाम मिले हैं।

बीएसएफ का स्थापना दिवस समारोह एक दिसंबर को होना था लेकिन 30 नवंबर को पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल के निधन के बाद यह समारोह आज आयोजित किया गया।

 
 
 
टिप्पणियाँ