रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 08:25 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
भारत-पाकिस्तान की शांति प्रक्रिया पटरी पर: मलिक
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:14-12-12 09:47 PMLast Updated:14-12-12 10:12 PM
Image Loading

पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री रहमान मलिक ने शुक्रवार को कहा कि भारत-पाकिस्तान की शांति प्रक्रिया में बहुत अच्छी प्रगति हो रही है। मलिक ने मुम्बई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को गिरफ्तार करने का भी वादा किया।

भारत के तीन दिवसीय दौरे पर पहुंचने के तत्काल बाद मीडिया के साथ बातचीत में मलिक ने मुम्बई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को गिरफ्तार करने का भी वादा किया, बशर्ते कि भारत उसकी संलिप्तता के बारे में विश्वसनीय सबूत मुहैया करा दे।

मलिक ने कहा, ''पाकिस्तान और भारत को मित्र बनना होगा।'' उन्होंने कहा कि यह तभी सम्भव होगा, जब दोनों देशों की जनता के बीच अधिक से अधिक परस्पर संवाद हो।

मलिक ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के नेताओं के बीच मुलाकातों के कारण शांति यात्राा बहुत अच्छे तरीके से आगे बढ़ रही है।

मलिक ने कहा, ''इसके लिए मैं अपने नेता, (राष्ट्रपति आसिफ अली) जरदारी, प्रधानमंत्री, और भारतीय प्रधानमंत्री व (अब वित्त मंत्री) पी. चिदम्बरम को समान रूप से श्रेय दूंगा।''

पाक मंत्री ने कहा कि नई वीजा व्यवस्था लागू हो जाने के बाद भारतीयों व पाकिस्तानियों के एक-दूसरे के क्षेत्र में प्रवेश करने के तौर-तरीकों पर वह गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के साथ चर्चा करेंगे।

मलिक ने कहा, ''जब वे (भारतीय) पाकिस्तान में प्रवेश करें तो उन्हें यह महसूस होना चाहिए कि वे अपने घर आ रहे हैं। हम शांति प्रक्रिया को आगे ले जाने के लिए यहां आए हैं।''

मलिक ने नवम्बर 2008 के मुम्बई हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में आई कड़वाहट को याद किया।

हाफिज सईद की गिरफ्तारी और उसे सौंपे जाने की भारत की मांग के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ''कसाब द्वारा दिया गया मात्र एक बयान पर्याप्त नहीं है। हमें देश के कानून का पालन करना होगा। निश्चित तौर पर न्यायालय को भी संतुष्ट करना होगा.. हाफिज सईद के बारे में ढेर सारे दुस्प्रचार हुए हैं।''

मलिक ने कहा, ''मैं आप सभी को आश्वस्त करता हूं कि हम भारतीय सबूत की अभी भी जांच कर रहे हैं। और यदि वह सबूत अंतर्राष्ट्रीय न्यायालयी मानकों पर खरा उतर पाया तो मैं स्वदेश लौटने से पहले ही उसकी गिरफ्तारी के आदेश दे दूंगा।''

मलिक ने कहा, ''हमें हाफिज सईद से कोई लगाव नहीं है। हमारा इरादा स्पष्ट है। जो भी अपराध करता है, उसे दंड मिलना चाहिए। मैं पाकिस्तान की जनता की ओर से प्रेम और शांति का एक संदेश लेकर आया हूं।''

मलिक ने कहा कि पाकिस्तान ने हमेशा आतंकवाद की निंदा की है। उन्होंने कहा, ''हमने आतंकवाद में 40,000 बेगुनाहों को गंवाया है, आतंकवादी हमलों में 42,000 अपाहिज हो गए हैं.. हम सभी शांति चाहते हैं.. भारत भी आतंकवाद से पीडिम्त है।''

 
 
 
 
टिप्पणियाँ