मंगलवार, 25 नवम्बर, 2014 | 03:03 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    श्रीनिवासन आईपीएल टीम मालिक और बीसीसीआई अध्यक्ष एकसाथ कैसे: सुप्रीम कोर्ट  झारखंड और जम्मू-कश्मीर में पहले चरण की वोटिंग आज पार्टियों ने वोटरों को लुभाने के लिए किया रेडियो का इस्तेमाल सांसद बनने के बाद छोड़ दिया अभिनय : ईरानी  सरकार और संसद में बैठे लोग मिलकर देश आगे बढाएं :मोदी ग्लोबल वॉर्मिंग से गरीबी की लड़ाई पड़ सकती है कमजोर: विश्व बैंक सोयूज अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना  वरिष्ठ नेता मुरली देवड़ा का निधन, मोदी ने जताया शोक  छह साल बाद पाक के पास होंगे 200 एटमी हथियार अलग विदर्भ के लिए गडकरी ने कांग्रेस से समर्थन मांगा
रहमान मलिक दिल्ली पहुंचे, नई वीजा व्यवस्था लागू होगी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:14-12-12 09:48 PMLast Updated:14-12-12 09:48 PM
Image Loading

पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री रहमान मलिक शुक्रवार को तीन दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे। मलिक के दौरे की लम्बे समय से चर्चा चल रही थी। इस दौरान उस उदार वीजा व्यवस्था के क्रियान्वयन की सम्भावना है, जिस पर सितम्बर में दोनों देशों के बीच सहमति बनी थी।

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आर.पी.एन. सिंह ने यहां पालम हवाई अड्डे पर मलिक की अगवानी की।

दोनों देशों के बीच उदार वीजा नीति पर तत्कालीन विदेश मंत्री एस.एम. कृष्णा और मलिक के बीच आठ सितम्बर को इस्लामाबाद में समझौता हुआ था। इस वीजा समझौते के अब क्रियान्वित होने की सम्भावना है।

12 वर्ष से कम तथा 65 वर्ष से अधिक उम्र वर्ग के लोगों को तथा व्यापारियों को पुलिस रिपोर्टिग से छूट नए समझौते की खासियतों में शामिल है। यह वीजा समझौता ऐसे समय में क्रियान्वित होने जा रहा है, जब पाकिस्तान-भारत के बीच क्रिकेट श्रृंखला होने वाली है। इसके तहत 25 दिसम्बर से भारत में तीन एक दिवसीय और दो ट्वेंटी-20 मैच खेले जाने हैं।

अधिकारियों के अनुसार, केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे मलिक के साथ द्विपक्षीय बातचीत करेंगे।

शिंदे बातचीत के दौरान मुम्बई हमले के आतंकवादियों के सूत्रधारों की आवाज के नमूने सौंपने की पाकिस्तान से मांग कर सकते हैं। वह लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक और मुम्बई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को सौंपने के लिए भी दबाव बना सकते हैं।

 अधिकारियों ने कहा कि दोनों पक्ष आतंकवाद से मुकाबला, सीमा प्रबंधन, फर्जी भारतीय नोट और सुरक्षा व जांच एजेंसियों के बीच सहयोग के मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे।

अधिकारियों ने कहा कि मलिक प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज से शनिवार को मुलाकात करेंगे। वह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकर शिवशंकर मेनन से भी मुलाकात कर सकते हैं।

मलिक के साथ आए सरकारी शिष्टमंडल में आंतरिक मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) के सदस्य शामिल हैं।

शिंदे के अलावा बातचीत में आर.पी.एन. सिंह और गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय तथा विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी भी हिस्सा लेंगे।

 
 
 
टिप्पणियाँ