शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 06:40 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
विद्या प्रकाश ठाकुर ने भी राज्यमंत्री पद की शपथ लीदिलीप कांबले ने ली राज्यमंत्री पद की शपथविष्णु सावरा ने ली मंत्री पद की शपथपंकजा गोपीनाथ मुंडे ने ली मंत्री पद की शपथचंद्रकांत पाटिल ने ली मंत्री पद की शपथप्रकाश मंसूभाई मेहता ने ली मंत्री पद की शपथविनोद तावड़े ने मंत्री पद की शपथ लीसुधीर मुनघंटीवार ने मंत्री पद की शपथ लीएकनाथ खड़से ने मंत्री पद की शपथ लीदेवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
पाकिस्तान की ओर से भारतीय चौकियों पर गोलीबारी
जम्मू, एजेंसी First Published:09-12-12 08:49 PMLast Updated:09-12-12 08:50 PM
Image Loading

पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ आसान बनाने की नीयत से नियंत्रण रेखा (एलओसी) से लगती 10 भारतीय चौकियों पर अंधाधुंध गोलीबारी की। सैन्य अधिकारियों ने यह जानाकारी रविवार को दी। 

अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने जम्मू से लगभग 250 किलोमीटर दूर पुंछ जिले के कृष्णा घाटी सेक्टर में शनिवार देर रात से गोलीबारी शुरू की, जो रविवार सुबह तक जारी रही। एक अधिकारी ने बताया, ‘पाकिस्तानी सेना ने छोटे हथियारों, मशीनगनों तथा रॉकेटों का इस्तेमाल किया। रात 11 बजे तक अंधाधुंध गोलीबारी की गई। इसके बाद रुक-रुककर गोलीबारी हुई और यह सुबह सात बजे तक चलती रही।’ उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने भी जवाबी कार्रवाई की।

अधिकारी ने कहा, ‘दोतरफा गोलीबारी थम गई है। हमारी ओर से की गई गोलीबारी का मकसद था घुसपैठ रोकना और पाकिस्तानी सैनिकों की तरफ से की जा रही गोलीबारी को बंद कराना।’ सेना ने कहा कि इस तरह की गोलीबारी आम तौर पर आतंकवादियों को घुसपैठ कराने के उद्देश्य से की जाती है। लगभग 16 आतंकवादियों का समूह नियंत्रण रेखा पार कर जम्मू एवं कश्मीर में घुसपैठ के प्रयास में है।

एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों की कोशिश हालांकि नाकाम रही। यह सुनिश्चित करने के लिए कि गोलीबारी के दौरान कहीं कोई आतंकवादी घुसपैठ तो नहीं कर गया, इलाके की तलाशी ली जा रही है। एक अन्य घटनाक्रम में कृष्णा घाटी सेक्टर की सालोत्री चौकी के नजदीक गश्त कर रहा एक जवान शनिवार शाम बारूदी सुरंग विस्फोट में घायल हो गया।

मेंढर कस्बे के लोगों ने आईएएनएस से कहा कि यह पाकिस्तानी एजेंटों की करतूत हो सकती है, जो भारतीय सेना को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं। उल्लेखनीय है कि 17 नवम्बर से लेकर अब तक इस तरह की चार घटनाएं हो चुकी हैं, जिनमें सेना का एक मोटिया तथा तीन सैनिक घायल हो गए थे। इस वर्ष युद्धविराम संधि के उल्लंघन के 50 से अधिक मामले सामने आए हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच नवम्बर 2003 में युद्धविराम संधि हुई थी।

 

 
 
 
टिप्पणियाँ