बुधवार, 04 मार्च, 2015 | 18:13 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
सोलह दिसंबर सामूहिक बलात्कार के दोषी के साक्षात्कार मामले में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने तिहाड़ जेल के महानिदेशक आलोक कुमार वर्मा को तलब किया।दिल्ली उच्च न्यायालय ने उबर बलात्कार मामले में आरोपी के अभियोजन पक्ष के 13 गवाहों को फिर से बुलाने का आग्रह स्वीकार किया, उच्च न्यायालय ने पीड़ित से फिर से पूछताछ किए जाने का आरोपी चालक का अनुरोध स्वीकार किया।
पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक 14-16 दिसंबर को आएंगे भारत
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-12-12 03:26 PMLast Updated:06-12-12 03:34 PM
Image Loading

भारत और पाकिस्तान के बीच उदार वीजा समझौतों को अमल में लाने के मकसद से पाकिस्तानी गृह मंत्री रहमान मलिक की भारत यात्रा की तिथि में कुछ बदलाव किया गया है। अब वह संभवत: आगामी 14 दिसंबर को यहां आएंगे।
   
गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने मंगलवार को मलिक को 11 दिसंबर से 13 दिसंबर तक के लिए भारत आने का निमंत्रण भेजा था। इस बीच उनका अपने जन्मदिन (12 दिसंबर) के मौके पर ताजमहल देखने की भी योजना थी।
  
मलिक ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा था कि मुझे मेरे जन्मदिन के मौके पर भारत आने का निमंत्रण देने के लिए मैं श्रीमान शिंदे का आभारी हूं। 12 को जा पाने में असमर्थ हूं, अब 14 को जाउंगा।
  
पाकिस्तानी नेता ने कहा कि वह 11 दिसंबर से 13 दिसंबर के बीच भारत यात्रा नहीं कर पाएंगे, क्योंकि इस दौरान वह अपनी आधिकारिक यात्रा के लिए तुर्की में होंगे। उनकी भारत यात्रा के लिए संभावित नई तिथियां 14 दिसंबर से 16 दिसंबर तक हैं।
  
सूत्रों ने कहा कि 13 दिसंबर को संसद पर पाकिस्तानी आतंकियों द्वारा किए गए हमले की ग्यारहवीं बरसी है। संभव है कि मलिक ने इसलिए उस दिन भारत में होने से बचने का फैसला किया हो।

गृह मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि मलिक की यात्रा के विवरण पर विदेश मंत्रालय और नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्च आयोग में परामर्श चल रहा है। शिंदे ने कहा था कि मलिक का जन्मदिन 12 दिसंबर को आता है और वह ताजमहल पर अपना दिन बिताने की इच्छा भी जता चुके हैं। सरकार उन्हें इस ऐतिहासिक शहर में यात्रा करने की सुविधा प्रदान करेगी।
  
भारत और पाकिस्तान के बीच नए उदार भारत-पाक वीजा समझौते ने 38 साल पुराने प्रतिबंधात्मक वीजा समझौते की जगह ली है। यह निश्चित समय के लिए वीजा सहमति और जनता के बीच ज्यादा संपर्क और व्यापार का मार्ग प्रशस्त करता है।
  
इस वीजा समझौते पर विदेश मंत्री एस एम कृष्णा और मलिक ने आठ सितंबर को इस्लामाबाद में हस्ताक्षर किए थे। यह समझौता व्यापारियों, वृद्धों, यात्रियों, तीर्थयात्रियों, समाज के सदस्यों और बच्चों को वीजा जारी करने में रुकावटों को कम करता है।
  
इस नए समझौते के तहत अब कोई व्यक्ति वर्तमान तीन स्थानों की बजाय पांच स्थानों पर यात्रा कर सकता है। 65 साल से ज्यादा उम्र के लोग और 12 साल से कम उम्र के बच्चों और प्रसिद्ध उद्यमियों को पुलिस में सूचना देने से छूट दी गई है।
  
रोम में इंटरपोल महासभा के दौरान पिछले महीने मिलने पर मलिक ने शिंदे को यह संकेत दिए थे कि वे नए वीजा नियमों की औपचारिक शुरुआत के मौके पर नई दिल्ली की यात्रा करना चाहते हैं।
  
हालांकि संसद के शीतकालीन सत्र के कारण यह यात्रा हो न सकी। बाद में, अधिकारिक सूत्रों ने कहा कि सरकार 26/11 हमलों के दोषी आतंकी अजमल कसाब को 21 नवंबर को फांसी देने की योजना बना रही थी, इसके बाद उनकी यात्रा को रोक दिया गया था।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड