बुधवार, 26 नवम्बर, 2014 | 20:29 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
अन्ना हजारे देहरादून से करेंगे भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन का आगाज
भाजपा जो दायित्व देगी, उसे पूरा करूंगा: नरेंद्र मोदी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:27-12-12 09:10 PMLast Updated:27-12-12 09:27 PM
Image Loading

लगातार चौथी बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के दूसरे दिन राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे नरेंद्र मोदी ने अपने राज्य को विकास की नयी ऊंचाई पर पहुंचाने का दावा करते हुए गुरुवार को कहा कि भाजपा जो जिम्मेदारी देगी, वह उसे पूरा करने का प्रयास करेंगे।

यहां भाजपा मुख्यालय में आयोजित स्वागत समारोह में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि बारह साल के शासन के दौरान मेरी सरकार ने जो कुछ भी काम किया, भाजपा ने मुझे जो भी जिम्मेदारी दी और उसे पूरा करने के जो प्रयास किये, उन प्रयासों के परिणामों से मुझे गर्व है।

अपने नेतृत्व में गुजरात विधानसभा चुनाव में लगातार तीन बार जीत दर्ज करने के बाद आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे मोदी ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता के नाते मेरा कर्तव्य बनता है कि मुझे पार्टी से जो भी दायित्व मिले, उसे पूरा कर सकूं, ताकि मेरी पार्टी के कार्यकर्ता दुनिया से आंख से आंख मिलाकर चुनौती दे सकें।

मोदी ने कहा कि जहां दो तीन साल में सरकारें बदलती हैं, वहीं हमारी सरकार के काम, भाजपा के संगठन और कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम से हम गुजरात में लगातार 12 साल से शासन में हैं।

राष्ट्रीय विकास परिषद की बैठक में शामिल होने दिल्ली आये मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आज की बैठक में मैंने प्रधानमंत्री के सामने कहा कि आप जिस पद से जो बात कर रहे हैं, उससे देश में निराशा पैदा हो रही है।

कार्यकर्ताओं के पीएम़-पीएम नारों के बीच मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री के सामने मैंने कठोरता से अपनी बात रखी। मैंने कहा कि आपके पास कोई सोच, कोई सपना और कोई कार्ययोजना नहीं है।

इस बीच कार्यकर्ताओं ने देखो देखो कौन आया, हिंदुस्तान का शेर आया और गुजरात की जीत हमारी है, अब दिल्ली की बारी है जैसे नारे भी लगाये। मोदी ने कहा कि 9 प्रतिशत की आर्थिक विकास दर का लक्ष्य तय करने वाली केंद्र सरकार इसे 7.9 प्रतिशत के स्तर पर ही पहुंचा पाई और अब सरकार ने 9 के बजाय यह लक्ष्य 8.2 प्रतिशत आंका है।

मोदी ने एनडीसी की बैठक का हवाला देते हुए चुटकी ली, यानी इसे केवल 0.3 प्रतिशत आगे बढ़ाना है। इसके लिए आज पूरे देश को यहां एकत्रित किया गया। 0.3 प्रतिशत के लिए इतनी मशक्कत करनी पड़ रही है। यह हाल केंद्र सरकार का है।

उन्होंने कहा कि कुछ राज्यों के परिश्रम से देश में थोड़ी बहुत आशा है, अन्यथा केंद्र के पास तो कोई कार्ययोजना नहीं है। मोदी ने कहा कि देश में 65 प्रतिशत से ज्यादा आबादी 35 साल से कम उम्र के युवाओं की है और युवा शक्ति वाले देश के विकास के लिए सरकार के पास कोई योजना या राजनीतिक दृढ़शक्ति नहीं है।

 
 
 
टिप्पणियाँ