सोमवार, 06 जुलाई, 2015 | 10:36 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आयुध फैक्टरियों में 67 हजार पदों को भरने की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू दिल्ली: सवा सौ साल पुराना जर्जर पुल अब बनेगा ऐतिहासिक विरासत खुशखबरी: वेस्ट यूपी में 500 जगहों को वाईफाई करेगा बीएसएनएल यूपी: चलती गाड़ी में छात्रा के साथ रेप के बाद रेलवे स्टेशन पर फेंका पहले दिया संवेदनहीन बयान, अब पत्रकार अक्षय के घर जाएंगे कैलाश विजयवर्गीय पत्रकार अक्षय के विसरा जांच एम्स में होगी, परिवार की मांग मंजूर अक्षय की मौत स्वाभाविक नहीं, व्यापमं गिरोह ने की हत्या: भूरिया पाकिस्तान ने किया संघर्षविराम का उल्लंघन, बीएसएफ जवान शहीद लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत
तिवारी ने फिर कहा, मुलायम में देश चलाने की क्षमता
लखनऊ, एजेंसी First Published:02-12-12 04:10 PMLast Updated:02-12-12 05:06 PM
Image Loading

अपने आपको पुराना समाजवादी बताते हुए उत्तराखंड एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने रविवार को एक बार फिर कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव प्रधानमंत्री पद के योग्य उम्मीदवार हैं और उनमें देश चलाने की क्षमता है।

उत्तर प्रदेश के दौरे पर आए कांग्रेस के वयोवृद्ध नेता तिवारी ने राजधानी के पांच विक्रमादित्य मार्ग स्थित मुलायम सिंह यादव के आवास पर रविवार को उनसे मुलाकात के बाद कहा, ''देश मुलायम की तरफ देख रहा है। वह बहुत अनुभवी और योग्य नेता हैं। हम चाहते हैं कि वह देश चलाएं।''

जब तिवारी से पूछा गया कि क्या वह अगले लोकसभा चुनावों में मुलायम को अपना सहयोग देंगे तो उन्होंने कहा, ''मुलायम को मेरा आशीर्वाद है कि वह देश का नेतृत्व करने के लिए आगे बढ़ें और देश उनके नेतृत्व का लाभ उठा सके।''

भविष्य में सपा में शामिल होने और मुलायम के लिए प्रचार करने के प्रश्न पर तिवारी ने गोलमोल जवाब देते हुए कहा, ''मैं समाजवाद का बहुत पुराना समर्थक हूं। हमारी विचारधारा में एकता है। आगे की बातें भविष्य के गर्भ में छुपी हैं।''

खुद के चुनावी मैदान में उतरने के प्रश्न पर तिवारी ने कहा, ''मैं अब कोई चुनाव नहीं लडूंगा। मेरी उम्र 88 वर्ष हो गई है। मैं चुनाव लड़कर पांच साल क्या करूंगा।''

इन दिनों कांग्रेस में उपेक्षित चल रहे तिवारी से जब यह पूछा गया कि क्या उनका कांग्रेस से मोहभंग हो गया है, तो उन्होंने कहा कि ऐसे सवाल मत पूछिए, जिनके उत्तर देने में कठिनाई हो।

इस दौरान उन्होंने खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का समर्थन करते हुए कहा कि इससे देश को फायदा होगा और साथ ही देश में पैसा आएगा।

संवाददाता सम्मेलन में तिवारी के साथ मौजूद मुलायम ने अभी खुद को प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी से अलग करते हुए कहा, ''मैं परिस्थियों के चलते पहले उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बना। देखिए आगे क्या परिस्थितयां बनती हैं।''

यह पूछने पर कि क्या एफडीआई के मुद्दे पर सपा केंद्र सरकार के खिलाफ मतदान करेगी, तो मुलायम ने कहा कि यह संसदीय दल की बैठक में तय किया जाएगा।

ज्ञात हो कि मुलायम और तिवारी पिछले दो दिनों से मुलाकात कर रहे हैं। शनिवार को मुलायम अपने बेटे अखिलेश के साथ तिवारी से मिलने राजधानी के मॉल एवेन्यू स्थित आवास गए थे। वैसे इन मुलाकातों के राजनीतिक मायने भी निकाले जा रहे हैं, लेकिन दोनों नेता लगातार कह रहे हैं कि उनकी मुलाकातों के कोई राजनीतिक मायने न निकाले जाएं। जानकारों का कहना है कि इस दोस्ती से भविष्य में नया राजनीतिक समीकरण देखने को मिल सकता है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड