शनिवार, 04 जुलाई, 2015 | 08:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पूर्व रॉ प्रमुख का खुलासा: खुफिया एजेंसी कश्मीर में आतंकियों को देती है पैसा वैज्ञानिकों ने खोला कम और अधिक आयु का राज, आप भी जान लीजिए यूपी में 'चुड़ैल का वीडियो' हुआ वायरल, पुलिस ढूंढ रही 'चुड़ैल' को 'उधर हेमा को अस्पताल ले गए, इधर मेरी बेटी ने अपनी मां की गोद में दम तोड़ दिया' फिल्म देखने से पहले पढ़ें 'गुड्डू रंगीला' का रिव्यू फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत
टेप की आवाज से मिले जंदल की आवाज के नमूने
मुम्बई, एजेंसी First Published:24-12-12 03:15 PM
Image Loading

मुंबई आतंकी हमलों के आरोप में गिरफ्तार लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी सैयद जबीउद्दीन अंसारी उर्फ अबू जंदल की आवाज के नमूने हमलों के दौरान रिकॉर्ड की गई आवाजों में से एक से मेल खाते हैं। मामले में यह एक महत्वपूर्ण साक्ष्य है।
  
पुलिस की अपराध शाखा के एक अधिकारी ने बताया कि शहर की अपराध विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल), जहां जंदल की आवाज के नमूने भेजे गए थे, ने मुम्बई पुलिस की अपराध शाखा को सौंपी गई अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 26 नवम्बर 2008 को मुम्बई हमलों के दौरान रिकॉर्ड की गई आवाजों में से एक आवाज जंदल की है।
  
मुम्बई नरसंहार के कथित प्रमुख साजिशकर्ता जंदल को इस साल दिल्ली से लाए जाने के बाद 21 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। उसे जून में सउदी अरब ने वापस भारत भेज दिया था।
  
पुलिस के अनुसार जंदल लश्कर के पांच अन्य पाकिस्तानी सदस्यों के साथ कंट्रोल रूम में मौजूद था। ये लोग हमलों के दौरान 10 आतंकवादियों को दिशा निर्देश दे रहे थे।
  
पुलिस ने दावा किया कि हमलों के दौरान खुफिया एजेंसियों द्वारा पकड़ी गई आवाजों में से एक जंदल की है, जो प्रशासन, उदाहरण तथा युवक जैसे हिन्दी शब्दों का इस्तेमाल कर रहा था।
  
उसे आतंकवादियों से खुद की पहचान छिपाने और खुद को हैदराबाद के टोली चौक से ताल्लुक रखने वाले डेक्कन मुजाहिदीन के रूप में पेश करने का निर्देश देते हुए भी सुना गया था।
  
पुलिस ने कहा कि जंदल नरीमन हाउस पर हमला करने वाले आतंकवादियों से यह कहते हुए भी सुना गया था कि वे मीडिया तक संदेश पहुंचाएं कि हमला सिर्फ ट्रेलर है, असल फिल्म बाकी है। जंदल ने हमलावरों को हिन्दी भी सिखाई थी और हमले की जगहों की भौगोलिक स्थिति की जानकारी भी दी थी।
  
पुलिस के अनुसार महाराष्ट्र के बीड जिले का निवासी जंदल 2006 के मई महीने में आतंकवाद निरोधक दस्ते द्वारा औरंगाबाद में हथियारों का जखीरा पकड़े जाने के बाद भारत छोड़कर भाग गया था।
  
इस साल अगस्त में जंदल का मोहम्मद अजमल कसाब से आमना सामना कराया गया था। कसाब ने जंदल की पहचान हमलों के एक प्रमुख साजिशकर्ता के रूप में की थी। मुम्बई हमलों में जीवित पकड़े गए एकमात्र आतंकी कसाब को पिछले महीने फांसी पर लटका दिया गया था।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड