बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 15:16 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया, राजीव गांधी के हत्यारों को फांसी नहीं होगी, तीनों हत्यारों को उम्रकैद मिलीछत्तीसगढ़ में आयकर विभाग की छापेमारी, 120 अधिकारियों की टीम मौके पर, पॉवर प्लांट कारोबारियों के यहां छापेमारी
दुनिया की आबादी से ज्यादा हो जाएंगे मोबाइल नम्बर
जेनेवा, एजेंसी First Published:11-12-2012 07:00:49 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

मोबाइल फोन सेवा के विस्तार की मौजूदा गति के मुताबिक वर्ष 2014 तक दुनिया की आबादी से अधिक सेल फोन नम्बर हो जाएंगे। यह बात इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशंस युनियन (आईटीयू) ने एक नई रिपोर्ट में कही। आईटीयू के ‘मेजरिंग द इनफोर्मेशन सोसायटी 2012’ के मुताबिक अभी ही 100 से अधिक ऐसे देश हैं, जहां आबादी से अधिक मोबाइल फोन नम्बरों की संख्या हो चुकी है।

आईटीयू के मुताबिक मोबाइल फोन नम्बर की मौजूदा संख्या छह अरब 2014 तक बढ़कर 7.3 अरब हो जाएगी, जबकि जनसंख्या सात अरब रहेगी। चीन एक अरब से अधिक मोबाइल फोन नम्बरों वाला पहला देश बन चुका है। जल्द ही भारत भी इस सूची में शामिल हो जाएगा।

रूस में मोबाइल फोन नम्बरों की संख्या 25 करोड़ है और यह आबादी की तुलना में 1.8 गुणा है। ब्राजील में सेल फोन नम्बरों की संख्या 24 करोड़ पहुंच चुकी है और यह देश की आबादी का 1.2 गुणा है। छह अरब सेल फोन नम्बरों में से 1.1 अरब मोबाइल-ब्रॉडबैंड हैं, जो फिक्स्ड-ब्रॉडबैंड की तुलना में दोगुणा है।

अध्ययन में चीन को स्मार्ट फोन का प्रमुख बाजार बताया गया। दुनिया में एक चौथाई इंटरनेट उपयोगकर्ता चीन में रहते हैं। अध्ययन में हालांकि कहा गया कि दुनिया की दो-तिहाई आबादी अब भी इंटरनेट का उपयोग नहीं करती है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingप्रतिबंध हटाने के लिए बीसीसीआई से संपर्क करूंगा: श्रीसंत
जब वह तिहाड़ जेल में था तो वह आत्महत्या के बारे में सोच रहा था लेकिन तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को अब उम्मीद बंध गई है कि वह वापसी कर सकते हैं और खुद पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिये वह बीसीसीआई से संपर्क करेंगे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड