रविवार, 25 जनवरी, 2015 | 17:44 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
हमारी दोस्ती का असर दोनों देशों के रिश्तों में दिख रहा है: ओबामाओबामा : अकेले में मिलते हैं तो एक दूसरे को समझते हैंएक-दूसरे को जानने की कोशिश की : मोदीमोदी : पर्सनल कमेस्ट्री मायने रखती हैअकेले में जो बात होती है उसे पर्दे में रहने दें : मोदीरक्षा क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर हमारी चर्चा हुई:ओबामाओबामा : मंगलवार को रेडियो पर भारतीय लोगों से बातचीत का इंतजार हैहम परमाणु करार पर अमल की ओर आगे बढ़े :ओबामाओबामा :हम भारत-अमेरिका के रिश्तों को नई ऊंचाई तक ले जाना चाहते हैंहम अपने व्यापारिक रिश्तों को और आगे ले जाएंगे : ओबामाओबामा : चाय पर चर्चा के लिए पीएम मोदी का शुक्रियान्योते के लिए धन्यवाद : ओबामाओबामा ने हिंदी में कहा मेरा प्यार भरा नमस्कारओबामा ने नमस्ते के साथ अपना बयान शुरू कियापर्यावरण के लिए दोनों देश मिलकर काम करेंगे :मोदीआतंकी गुटों पर कार्रवाई को लेकर कोई भेद नहीं रखेंगे :मोदीमोदी: रक्षा के क्षेत्र में, समुद्री सुरक्षा के क्षेत्र में हम सहयोग बढ़ाएंगेपरमाणु करार के व्यवसायिक नतीजे अब दिखेंगे : मोदीमोदी : पिछले कुछ दिनों में दोनों देशों में गर्मजोशी दिखीअमेरिका सबसे अच्छा दोस्त है :मोदीमैं अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने हमारा न्यौता स्वीकारा। मैं जानता हूं कि दोनों कितने व्यस्त रहते हैं- मोदीमोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत में ओबामा और मिशेल का स्वागत है। गणतंत्र दिवस पर हमारा महमान बनना खास हैहैदराबाद हाउस में हुई मोदी और ओबामा की मुलाकातओबामा और मोदी देंगे साझा बयानथोड़ी देर में मीडिया के सामने आएंगे ओबामा और मोदी
दुनिया की आबादी से ज्यादा हो जाएंगे मोबाइल नम्बर
जेनेवा, एजेंसी First Published:11-12-12 07:00 PM
Image Loading

मोबाइल फोन सेवा के विस्तार की मौजूदा गति के मुताबिक वर्ष 2014 तक दुनिया की आबादी से अधिक सेल फोन नम्बर हो जाएंगे। यह बात इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशंस युनियन (आईटीयू) ने एक नई रिपोर्ट में कही। आईटीयू के ‘मेजरिंग द इनफोर्मेशन सोसायटी 2012’ के मुताबिक अभी ही 100 से अधिक ऐसे देश हैं, जहां आबादी से अधिक मोबाइल फोन नम्बरों की संख्या हो चुकी है।

आईटीयू के मुताबिक मोबाइल फोन नम्बर की मौजूदा संख्या छह अरब 2014 तक बढ़कर 7.3 अरब हो जाएगी, जबकि जनसंख्या सात अरब रहेगी। चीन एक अरब से अधिक मोबाइल फोन नम्बरों वाला पहला देश बन चुका है। जल्द ही भारत भी इस सूची में शामिल हो जाएगा।

रूस में मोबाइल फोन नम्बरों की संख्या 25 करोड़ है और यह आबादी की तुलना में 1.8 गुणा है। ब्राजील में सेल फोन नम्बरों की संख्या 24 करोड़ पहुंच चुकी है और यह देश की आबादी का 1.2 गुणा है। छह अरब सेल फोन नम्बरों में से 1.1 अरब मोबाइल-ब्रॉडबैंड हैं, जो फिक्स्ड-ब्रॉडबैंड की तुलना में दोगुणा है।

अध्ययन में चीन को स्मार्ट फोन का प्रमुख बाजार बताया गया। दुनिया में एक चौथाई इंटरनेट उपयोगकर्ता चीन में रहते हैं। अध्ययन में हालांकि कहा गया कि दुनिया की दो-तिहाई आबादी अब भी इंटरनेट का उपयोग नहीं करती है।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड